सामाजिक क्षेत्र में सेवा प्रदान करने के लिए माताश्री मंगला जी को विशालक्षी सम्मान

सामाजिक क्षेत्र में सेवा प्रदान करने के लिए माताश्री मंगला जी को विशालक्षी सम्मान

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह भी रही मौजूद

माताश्री मंगला जी को विशालक्षी सम्मान आर्ट ऑफ लिविंग ने दिया सम्मान

बेंगलुरु में माता मंगाल जी को आर्ट ऑफ लिविंग ने प्रदान किया विशालक्षी अवार्ड

श्री श्री रविशंकर के आर्ट ऑफ लिविंग की ओर से समाज सेवी माता मंगला जी को विशालक्षी अवार्ड-2020 से सम्मानित किया गया है। यह अवार्ड उन्हें बेंगलुरु में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय महिला सम्मेलन में दिया गया। इस सम्मेलन में दुनिया भर से आए प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

शुक्रवार को बेंगलुरु के आर्ट ऑफ लिविंग इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित इस तीन दिवसीय अर्तराष्ट्रीय महिला सम्मेलन का शुभांरभ श्री श्री रविशंकर के अलावा समारोह में उपस्थित गोवा की पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा,महामहिम राज्यपाल उत्तराखंड बेबी रानी मौर्य,पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी,जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल,केंद्रीय कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल,टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह सहित सम्मेलन में उपस्थिति मुख्य अतिथियों ने द्वीप प्रज्जवलित कर किया।

इस मौके पर श्री श्री रवि शंकर ने सम्मेलन में उपस्थित प्रबुद्धजनों का अभिवादन स्वीकार करते हुए कहाँ कि आज इस मंच पर पूरे विश्व की सशक्त आवाज़ विराजमान है। जो अपने-अपने क्षेत्र में समाज हित में निरंतर कार्य कर रहे हैं। आप आज हमारे इस भागीरथी प्रयास में खड़े है। इससे सौभाग्यशाली दिन हमारे लिए क्या हो सकता है। इसके लिए हम आप सभी प्रबुद्धजनों का आभार प्रकट करते है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला सम्मेलन में विशेष तौर पर पहुंची उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने इस मौके पर कहा कि मेरे विचार से एक महिला से बढ़ कर सातत्य का कोई प्रतीक नहीं है और शाश्वत सत्य से परिपूर्ण अध्यात्म से बढ़ कर सातत्य की कोई पहचान नहीं है। इस कांफ्रेंस में इन दोनों का अद्भुत संगम दृश्यमान है और सातत्य के मूल को अथवा बीज को पोषण करने का यही सर्वोत्तम,प्रामाणिक व समग्र मार्ग है।

महामहिम राज्यपाल बेबी रानी मौर्य एवं टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह ने माताश्री मंगला जी को विशालक्षी अवार्ड-2020 मिलने पर बधाई दी।

अंतर्राष्ट्रीय महिला सम्मेलन में शामिल हुए गोवा की पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा,पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी,जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल,केंद्रीय कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल और टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह ने भी अपने विचार रखे और एक मत से कहा की विश्व में सामाजिक,व्यवसायिक,सांस्कृतिक और राजनैतिक पटल पर परिवर्तन और तरक्की के लिए महिला सशक्तिकरण के लिए हम सब को आगे आना होगा। तभी विश्व में विकास के नये कीर्तिमान स्थापित होंगे।

आर्ट ऑफ लिविंग के तत्वावधान में बेंगलुरु में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय महिला सम्मेलन के प्रथम दिन विशालक्षी अवार्ड-2020 से सम्मानित समाज सेवी माताश्री मंगला जी ने आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर एवं इस सम्मेलन में उपस्थिति प्रबुद्धजनों का अभिवादन करते हुए कहा कि इक्कीसवीं सदी में महिलाओं की स्थिति में बदलाव की बयार चल पड़ी है। दुनिया भर में नारी को समानता का अधिकार दिया गया है। आज इसी का परिणाम है कि पूरी दुनिया से इस मंच पर महिला शक्ति की सफल विचारधारा एक साथ मंच पर उपस्थिति थी। मैं उन सभी महिला प्रतिभागियों का इस मंच पर आने के लिए अभिवादन करती हूँ। साथ ही इस भव्य आयोजन के लिए आदरणीय श्री श्री रवि शंकर जी को बहुत-बहुत बधाई देती हूँ।

 

 

बेंगलुरु के आर्ट ऑफ लिविंग इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित इस तीन दिवसीय अर्तराष्ट्रीय महिला सम्मेलन में देश-विदेश से हजारों की संख्या में श्री श्री रवि शंकर जी के अनुयायी शामिल हैं।