जंगलों में लगी भयावह आग, बारिस भरोसे वन अधिकारी.

प्रदेश में जंगल धूं धूं कर जल रहें,लेकिन इससे जिम्मेदार वन अधिकारियों को कोई लेना देना नहीं है।लापरवाही का आलम यह है, लगभग दो सप्ताह बीत जाने के बावजूद भी मुख्य वन संरक्षक अभी तक काम पर नहीं लौंट पाये है।वहीं वन अधिकारी अभी भी वनों की आग को बुझाने के लिए आसमानी बारिस पर आश्रित है। हॉलाकि अधिकारी यह भी दावा कर रहें कि आग बुझानें के लिए वन कर्मचारियां के साथ एसडीआरएफ,पुलिस,व आर्मी तक को सचेत किया गया है। आपको बता दे प्रदेश भी में प्रत्येक दिन 100 से अधिक आगजनी की घटनायें ओर 80 हेक्टेयर से अधिक वन भूमि आग से जलकर खाक हो रही है।और अभी तक कुल 1111 स्थानों पर आग लग चुकी है,जिसमें 63 से अधिक जानवरों की जान भी जा चुकी है।