उत्तराखंड एक्स सर्विसमैन लीग ने किया मेजर जनरल सतबीर के बयान का विरोध

देश की राजधानी ंिदल्ली में पिछले 52 दिनों से किसान कृर्षि बिल के विरोध में आन्दोलनरत है।जिसमें विशेषकर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान व अन्य तत्व भाग ले रहे हैं।
इसी सिलसिले में इंडियन एम्स सर्विसमैन मुमेंट के अध्यक्ष मेजर जनरल सतबीर सिंह (सेवा निवृत) ने पूर्व सैनिक संगठनों को सन्देश प्रसारित किये हैं कि सभी पूर्व सैनिक एवं उनसे जुड़े संगठन किसान आन्दोलन का समर्थन करें और सरकार के विरोध में आन्दोलन का साथ दें।
सभी सम्बन्धित सैनिक संगठन विशेषत उत्तराखंड एक्स सर्विसमैन लीग इस बयान और निर्देशों की घोर निन्दा और खन्डन करता है, और किसी भी प्रकार से आन्दोलन का समर्थन नहीं करता। अतः अधिकाँश पूर्व सैनिक मेजर जनरल सतबीर सिंह के सन्देश, निर्देश और इच्छा जो की वर्तमान किसान आन्दोलन के समर्थन में है उनका कतिपय समर्थन नहीं करता।
सामान्यतः इंडियन एक्स सर्विसमैन मुमेंट का गठन पूर्व सैनिकों के कल्याण एवं ओआर ओपीको लागू करने के लिए किया गये, लेकिन इस संगठन का वर्तमान स्थिति में मेजर जनरल सतबीर सिंह ( सेवा निवृत) द्वारा राजनीतिकरण करने का प्रयास किया जा रहा है और अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पूर्ण करने का माध्यम पूर्व सैनिकों को बनाया जा रहे है।अतः, इस प्रकार के कदम की पूर्ण भर्तसना वह निन्दा की जाती है, जो की एक सैनिक परम्परा के अनुकूल नहीं है।बैठक के दौरान ब्रिगेडियर आर एस रावत(से० नि०) अध्यक्ष यूईएसएल, ब्रिगेडियर वी पी पी एस गुसांईं (से० नि०), उपाध्यक्ष यूईएसएल आई जी एस एस कोठियाल, ब्रिगेडियर सर्वेश डंगवाल (से० नि०), कर्नल एम एम पी काला (से० नि०), कर्नल पी एल प्राशर ( से॰ नि॰), कर्नल शशी पोखरियाल उपस्थित थे।