उत्तराखंड उपनल कर्मचारी महासंघ का क्रमिक अनसन शुरू

भानु प्रकाश नेगी ,देहरादून


राज्य सरकार द्वारा एक सूत्रीय मांग पर विचार न हो पाने के बाद उपनल कर्मचारी क्रमिक अनसन पर बैठ गये है।वही राज्य सरकार के निर्देशों पर उपनल के एमडी मनोज रावत ने कार्य पर अनुपस्थित रहने वाले कर्मिकों को हटाने के लिए पत्र जारी कर दिये हैं।शासकीय कार्यवाही के मध्यनजर उपनल कर्मचारी महासंघ का आन्दोलन और तेज हो गया है।उपनल कर्मचारी राज्य सरकार से आर-पार की लड़ाई पर उतर गये है।

उन्होंने राज्य सरकार को चेताया है कि उपनल कर्मचारियों की नौकरी जाने से अगर कोई भी अनहोनी होती है तो इसके लिए एमडी उपनल जिम्मेदार होगा।गौरतलब है कि, उपनल कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर पिछले कई सालों से आन्दोलनरत है। इनकी मांगों पर हाईकोर्ट भी मुहर लगा चुका है लेकिन राज्य सरकार उपनल कर्मचारियों की मांगों पर सहमत नहीं हो रही है।चरणबद् तरीके से नियममितीकरण व समान कार्य समान वेतन की मांगों को लेकर चल रहे इस आन्दोलन से उपनल कर्मचारी अब आर या पार की लड़ाई लड़ने को मजबूर हो गये है। आपको बता दे कि प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग,जल निगम,उर्जा विभाग समेत कई विभागों में 22 हजार उपनल कर्मचारी प्रदेश की रीड़ की हड्डी बनकर काम कर रहे है। बावजूद इसके इन्हें इनका हक नहीं मिल पा रहा है।