उत्तराखंड में नेशे का बढ़ता कारोबार

उत्तराखंड दूनियां भर में अपनी आवो हवा और खुबसूरती के लिए पहचाना जाता है.दूर दूर से पर्यटक उत्तराखंड पहुंचते हैं. लेकिन पिछले कुछ सालों में हालत बदले हैं. आज यहां नशे की खेप बढ़ती जा रही है. वहीं देहरादून से लेकर ऋषिकेश और अन्य कई जिलों में भी नसे की खेप बढ़ रही है.

प्रदे्श के युवा लगातार नशे की गिरफ्त में फंसते जा रहे हैं. और यह हम नही बल्की एक सर्वे कह रहा है. एक सर्वे के मुताबिक ये बात सामने आई है कि प्रदेशभर में युवा नशे की गद में जा रही हैं और दून में तो हालत बहुत ज्यादा बत्तर हैं. आज दून में 87 फीसदी स्टूडेंट नशे के आदी हो चुके हैं.. राजधानी में पढ़ने वाले 15 फिसदी स्टूडेंट्स स्मैक और चरस के आदी हैं..वहीं हर साल जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वो चौकाने वाले हैं. दून समेत प्रदेशभर के युवा सिगरेट, तंबाकू, शराब के साथ साथ चरस और स्मैक कि भी लेते हैं.

 

2017 में प्रदेशभर में पकड़ी गई नशीली खेप

चरस- 276.07 किलो
स्मैक- 18.456 किलो
डोडा- 208.11
नशीली गोली- 24527
नशीली कैप्सूल- 20633

2018 प्रदेशभर में पकड़ी गई नशीली खेप
चरस- 251.8 किलो
स्मैक- 5.437 किलो
डोडा- 538.07 किलो
नशीली गोली- 104764
नशीली कैप्सूल – 1386
इजेक्शन- 27896
गांजा- 839.96
हिरोईन- 0.8

8 करोड़ 02 लाख 06 हजार 840 रुपये कि नशीली पदार्थ हुए बरामद

2019 में प्रदेशभर में पकड़ी गई नशीली खेप

चरस- 44.05 किलो
स्मैक- 3.3504 किलो
डोडा- 0
नशीली गोली- 3660
कैप्सूल- 4964
नशीली इनजैक्शन- 190
गांजा- 588.48

3 करोड़ 89 लाख 27 हजार 470 रुपये की नशीली खेप प्रदेशभर में हुई बरामद

देहरादून में पकड़ी गई नशे की खेप.

2017 में देहरादून में पुलिस द्वारा पकड़ी गई कुल नशे कि खेप

चरस 27.145 किलो,

स्मैक 617.11 ग्राम

डोडा पोस्ट 1091

नशीली गोली 92

7 करोड़ 07 लाख 48 हजार 657 रुपये की नशीली खेप देहरादून में हुई बरामद
2017 में 10 करोड़ 44 लाख 73 हजार 523 रुपये की खेप प्रदेशभर में हुई बरामद

2018 में देहरादून में पकड़ी गई नशीली खेप

चरस – 80.07 किलो
स्मैक- 2.708 किलो
डोडा- 104.77 किलो
नशीली गोली- 424
नशीले कैपसूल- 888
नशीले इजेक्शन- 730
गांजा- 72.31
हिरोईन- 0.1
देहरादून में 3 करोड़ 74 लाख 97 हजार 555 रुपए कि नशीला खेप बरामद

अप्रैल 2019 तक कि पुलिस द्वारा पकड़ी गई नशीली खेप
चरस- 12.07 किलो
स्मैक- 1.309 किलो
डोडा-
नशीली गोली- 975
कैप्सूल- 2050
इनजेक्शन- 84
गांजा- 15.93
1 करो़ड़ 43 लाख 74 हजार 780 रुपये की नशीली खेल देहरादून में हुई बरामद

बाईट- अशोक कुमार, डीडी लॉ एंड आर्डर

फाइनल वीओ- प्रदेशभर में बढ़ते नशे की लत को रोकने के लिए पुलिस द्वारा अभियान चलाये जा रहे हैं. वहीं सामाजिक संगठन भी अपने अपने स्तर पर नशे के खिलाफ अभियान चलाते रहते हैं. लेकिन सिर्फ पुलिस के अभियान से नशे से युवाओं को बचाया नही जा सकता. अभिभावकों को भी अपने बच्चों से बात करनी होगी और उनपर नजर रखना चाहिए. ताकी नशे से प्रदेश को बचाया जा सके.