ऊर्जा का हीरो बना रुद्रप्रयाग का उखीमठ ब्लॉक

मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास में हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड एवम् सोसायटी ऑफ पॉल्यूशन एंड एन्वायरमेंटल कंजर्वेशन साइंटिस्ट्स, देहरादून  ( SPECS ) के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न लोगों को ऊर्जा बचत अभियान 2018-19 में सक्रिय योगदान हेतु ‘‘ऊर्जा के हीरो, अलंकरण-2019’’ सम्मान से सम्मानित किया।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि एल ई डी के प्रयोग और बल्ब की रिपैरिंग का कार्य रोजगार और विद्युत की बचत के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इससे एक ओर तो विद्युत की बचत हुई है, वहीं दूसरी ओर स्थानीय युवकों को रोजगार भी मिला है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने भी विद्युत की बचत के लिए 1 करोड़ एल ई डी बल्ब वितरण का लक्ष्य रखा है, जिसमें 50 लाख से अधिक बल्बों का वितरण किया जा चुका है।
हीरोमोटोकॉर्प के माध्यम से रुद्रप्रयाग जिले के उखीमठ ब्लाक की 70 ग्राम सभाओं का पूर्ण रूप से एलईडी युक्त किया जाना, वास्तव में एक कीर्तिमान है। परंतु रुद्रप्रयाग ने ऐसे बहुत से कीर्तिमान स्थापित किए हैं। रुद्रप्रयाग में चोलाई (रामदाना) आज 40 से 50 रुपए किलो में बिक रहा है। इस सीजन में देवभोग योजना के अन्तर्गत महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा केदारनाथ धाम में लगभग 1.5 करोड रुपए का व्यापार किया गया है, जिसका 100 प्रतिशत लाभ महिलाओं को हुआ है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि एल ई डी के निर्माण और रिपेयरिंग के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराया बहुत अच्छा प्रयास है, और इसे सतत् होना चाहिए, इसके लिए प्लानिंग की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हीरो मोटोकॉर्प और इससे जुड़ी संस्थाओं को सरकार की ओर से हरसंभव सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।
इस अवसर पर महा निदेशक यू-कोस्ट डॉ राजेंद्र डोभाल द्वारा लिखित पुस्तक ‘‘उत्तराखंड के बहुमूल्य उत्पाद’’ एवं पर्वतीय नाट्य मंच की ‘‘स्मारिका’’का भी विमोचन किया।
इस अवसर पर सी एस आर प्रमुख हीरो मोटोकॉर्प  विजय सेठी ,  सुनील कैंथोला एवम् पी के पात्रो भी उपस्थित थे।