उर्गम घाटी में सती सिरोमणी माता अनसूईया की रथ डोली का भब्य स्वागत.

जोशीमठ(चमोली)पुत्रदायनी सती सिरामणी माता अनसूईया 9 माह की देवरा यात्रा के दौरान जोशीमठ से उर्गमधाटी के लिए विदा हुई। इस दौरान माता अनसूईया ने धियाणियो के घर जाकर उनकों अपना आर्शीवाद दिया। माता के प्रवास के दौरान हर दिन भक्ति के जोश में निकलते है और दिनभर माता के भक्तों का जमावड़ा लगा रहा। माता की भक्ति में लीन भक्तों ने पुत्रदायनी माता की जमकर भक्ति की और मौसमी फल,फूल मेवे और अनाज भेंट किया। वही माता अनसूईया ने भी अपने भक्तिं को भरपूर आर्शीवाद से नवाजा।

आपको बता दे कि माता अनुसूईया की रथ डोली 8 अक्टूबर को देवरा यात्रा के लिए निकली थी,जिसमें ग्राम खल्ला को छोड मंडल़ धाटी के सभी 8 गांवो के लोग सामिल है। सबसे पहले माता अनसूईया ने बाबा केदार व बद्रीनाथ के दर्शन किय और उसके बाद जोशीमठ में धियाणियों (मैती) के घर धर जाकर उनको अपना आर्शीवाद दिया।