देहरादून: उपनल कर्मचारी महासंघ को मिला उत्तराखंड जनरल ओबीसी संगठन का समर्थन, क्रमिक अनशन जारी

कर्मचारी महासंघ उत्तराखंड के बैनर तले प्रदेश अध्यक्ष श्री कुशाग्र जोशी के नेतृत्व में एकता विहार लेन नंबर 15-16 सहस्त्रधारा रोड के धरना स्थल पर नवें दिन भी धरना जारी रहा।
धरना स्थल में कर्मचारियों द्वारा क्रमिक अनशन किया गया जिसमें निम्न कर्मचारी क्रमिक अनशन पर रहे-
जितेंद्र नेगी, राजेन्द्र सिंह चंद, हयात सिंह पंवार, तेग सिंह, नरेंद्र सिंह, संजय कुमोला, प्रशांत नौटियाल, अभिषेक कैंतुरा।
हड़ताल के नवे दिन उत्तराखंड जनरल ओबीसी संगठन के प्रदेश अध्यक्ष व उनकी समस्त कार्यकारिणी द्वारा उपनल कर्मचारियों की हड़ताल को पूर्ण समर्थन किया गया और कर्मचारियों के आंदोलन के लिए उचित धनराशि भी अपने संगठन की ओर से प्रदान की गई, पूर्व सैनिक कर्मचारी संगठन कल्याण उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व सूबेदार मेजर गजपाल सिंह नेगी व उनकी कार्यकारिणी द्वारा भी उपनल कर्मचारियों की जायज मांगों का समर्थन किया गय
उपनल कर्मचारी महासंघ को उपनल के प्रबंध निदेशक द्वारा वार्ता के लिए बुलाया गया और एक पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया उपनल कर्मचारियों की मांगों के लिए उपनल प्रबंधन के साथ मिलकर एक कमेटी का गठन किया जाएगा और 1 माह के भीतर वह उस कमेटी की रिपोर्ट को शासन को प्रस्तुत किया जाएगा परंतु उपनल कर्मचारी महासंघ द्वारा उपनल प्रबंधन को कहा गया कि क्यों शासन उपनल कर्मचारी महासंघ के साथ वार्ता नहीं कर रहा है क्या हम इस प्रदेश के नहीं हैं, उपनल कर्मचारियों के वेतन से लेकर अन्य सभी नियम कानून जब शासन तय करता है तो क्यों उपनल कर्मचारियों के साथ वार्ता नहीं की जा रही है शासन द्वारा महासंघ द्वारा उपनल प्रबंधन को माननीय उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश को सुप्रीम कोर्ट से वापस लेते हुए लागू करने की अपील की गई और इसी शर्त पर हड़ताल को खत्म करने का आश्वासन दिया गया और उनको अवगत कराया गया की उपनल कर्मचारी कभी भी हड़ताल पर नहीं जाना चाहता क्योंकि उनकी कर्मचारियों का शोषण हो रहा है उनके अधिकारों का समानता का शोषण हो रहा है। उपनल प्रबंधन को कहा गया कि वह या तो शासन स्तर पर हमारी बात हमारी वार्ता करवाएं या माननीय मुख्यमंत्री जी से हमारी वार्ता करवाएं तभी हम हड़ताल को समाप्त करने का निर्णय लेंगे।
महासंघ के मुख्य संयोजक महेश भट्ट जी द्वारा अवगत कराया गया है कि कल से आंदोलन को शांतिपूर्वक और तेज किया जाएगा जिसमें विद्युत सेवाओं को भी पूर्ण रूप से बाधित करने का निर्णय लिया गया है यदि सरकार हमारी मांगों पर विचार नहीं करती है तो पर्सनल कर्मचारी समस्त विद्युत सेवाओं को पूर्ण रूप से ठप कर देंगे
धरना में महासचिव हेमंत रावत सभापति विनोद गोदियाल पूर्व अध्यक्ष दीपक चौहान, हरीश कोठारी, दिनेश रावत, अभिनव जोशी, मीडिया प्रभारी मनोज सेमवाल, रोहित वर्मा, जितेंद्र गोस्वामी सुरेंद्र चौधरी विनय प्रसाद हिमांशु जुयाल मनोज चौहान प्रकाश जोशी मीना राशि दीपा गरिमा आदि उपस्थित थे ।
नोो
उत्त्