लॉक डाउन के चलते ब्लड बैंकों मैं ब्लड की भारी कमी

  देहरादून:   लॉक डाउन के चलते लोग शहर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल दून समेत तमाम रक्त बैंकों में रक्तदान करने नहीं आ पा रहे हैं। और न ही रक्तदान शिविरों का आयोजन हो पा रहा है। जिससे खून के स्टॉक में 80% की कमी आ गई है रक्त की कमी के चलते लोगों से रक्तदान की अपील की जा रही है जिसमें लॉक डाउन में ईपास की व्यवस्था की जा रही है।

धर्म नगरी ऋषिकेश में नेगेटिव ग्रुप का खून अब ब्लड बैंकों में समाप्त हो गया है, जिससे थैलेसीमिया के मरीजों को भारी दिक्कत हो रही है गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी के लिए जैसे तैसे अनुरोध कर रिप्लेसमेंट के आधार पर काम चलाया जा रहा है। लेकिन थैलेसीमिया के मरीजों को कम से कम 2 दिन का इंतजार ब्लड के लिए करना पड़ रहा है वहीं दून अस्पताल में 40 मरीज पहले रक्त लेते थे उन्हें अब 2 दिन का इंतजार करना पड़ रहा है। ऋषिकेश में a-b, एबी नेगेटिव ग्रुप का ब्लड समाप्त हो गया है। जिससे मरीजों को बैरंग लौटना पड़ रहा है। दून अस्पताल में सामान्यतः 300 यूनिक रक्त का स्टॉक होता है, लेकिन अब यहां सिर्फ 60 unit blood बचा है।

3 दिन पहले यहां पर 20 यूनिट ख़ून बच गया था तब तब दून अस्पताल के पी आर ओ महेंद्र भंडारी वह नर्स स्टाफ शैलेश राणा की मुहिम पर कर्मचारियों व पत्रकारों ने रक्तदान कर 60 यूनिट खून जमा किया। आपको बता दें की आई एम ए ब्लड बैंक में 300 यूनिट रक्त बचा है, जबकि सिटी ब्लड बैंक में भी सिर्फ 25 यूनिट रक्त बचा है वही रक्त शिविर न लगा पाने के कारण महंत इंद्रेश अस्पताल में भी खून की कमी की खबर आ रही है।