तम्बाकू(धुम्रपान) से मुक्ति के लिए कोरोनेशन अस्पताल क्या है खास इंतजाम जाने इस खबर से।

कोरोनेशन अस्पताल में निःशुल्क तम्बाकू फ्री स्वास्थ्य शिविर
स्वतंन्त्रता दिवस की पूर्व संध्या पर किया गया विशेष स्वास्थ्य शिविर का आयोजन।

             भानु प्रकाश नेगी

देहरादून
कोरोनेशन अस्पताल में डिस्ट्रिक्ट वैलनेस सेन्टर की ओर से आयोजित तम्बाकू (धुम्रपान)से ग्रसित लागों के लिए निःशुल्क जांच शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 150 से अधिक लोगों ने अपने फेफडों की जांच कराकर स्वास्थ्य शिविर का लाभ उठाया।
अस्पताल के सी.एम.एस वरिष्ठ सर्जन डॉ. एल.सी. पुनेठा ने बताया कि इस तरह के शिविर हर माह की 10 तारिख को कोरोनेशन अस्पाताल में आयोजित किये जाते है। लेकिन इस बार स्वतंन्त्रता दिवस की पूर्व संध्या पर विशेष शिविर लगाया गया था जिसमें अधिक से अधिक लोगों को इस स्वास्थ्य शिविर का लाभ मिल सकें।


सिप्ला कम्पनी के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम में कम्पनी की ओर से दो अत्याधुनिक मशीन और तकनीशियन की टीम उपलब्ध करायी गई थी। जिसमें स्मोकिंग एनालाइसेस मशीन से फेफडों व सांस की नली की जांच जिसकी कमान आशीष त्यागी व दूसरी मशीन स्पारामीटरी से शरीर में प्रदूषण की जांच की गई जिससे आदिल ने संभाला।इस दौरान सिप्ला कम्पनी की ओर से प्रोजक्टर के माध्यम से धूम्रपान के दुस्प्रभाआें को भी दर्शाया गया।

मनोबैज्ञानिक डॉ अनुराधा व डॉ अजीत गैराला का इस कार्यक्रम को आयोजित करने में अहम भूमिका रही। कार्यक्रम के दौरान धुम्रपान व तम्बाकू से ग्रसित कई मरीजों ने तत्तकाल तम्बाकू छोड़ने की सपथ ली।डांॅ गैराला ने बताया कि वर्तमान समय में शहरों में प्रदूषण का स्तर लगातार बढता जा रहा है। जिससे सांस के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। और इसके बावजूद भी लोग धुम्रपान और तम्बाकू का सेवन लगातार कर रहे है। जिससे कैन्सर व हार्ट अटैक जैसी बीमारियों के केश बडते जा रहे है।
कार्यक्रम की संयोजक मनोबैज्ञानिक डॉ अनुराधा ने बताया कि समाज को तम्बाकू मुक्त करने के लिए जन जागरूकता की अति अवाश्यकता है। हमारा प्रयास है जो टैस्ट लोग बाहर एक हजार रूपया देकर कर रहे है हम उसे स्वास्थ्य शिविर के माध्यम से फ्री मे करा रहे है। ताकि गरीब और जरूरत मंद लोग समय से अपना इलाज करा सके।