एम.डी.डी.ए और नगर निगम की लापरवाही से दून द्धार अंधेरे में.

दोनों कार्यदायी संस्थाओं ने झाड़ा जिम्मेदारी से पल्ला
-शासन प्रसाशन ने भी किया मौन धारण

-भानु प्रकाश नेगी, देहरादून /क्लेमेंन्ट-टाउन 

एमडीडीए और नगर निगम के बीच फुटबाल बनी चन्द्रबनी चौक से आर.टी.ओं चेक पोस्ट की स्ट्रीट लाईट पिछले कई माह से सो पीस बनी हुई। विभागों की लापरवाही का आलम यह है कि समस्या को सुलझाने के बजाय एक दूसरे पर दोषारोपण कर पल्ला झाडते नजर आ रहे है।दून द्वार के नाम से प्रसिद्व इस मार्ग पर स्ट्रीट लाईट बंद होने के कारण स्थानीय नागरिकों एवं यहां से गुजरने वाले वाहन दुर्धटना ग्रस्त हो रहे है लेकिन दोनो जिम्मेदार विभाग जिम्मेदारियों से मुंहू मोडे़ हुऐ है।


समाजसेवी रमेश कुमार मंगू का कहना है कि इस बावत ग्राम पंचायत भारूवाला ग्रांट की ग्राम प्रधान कुशुम वर्मा कई बार नगर निगम और एमडीडीए को अवगत कराया है।एक तरफ एमडीडीए का कहना है नगर निगम हमें स्ट्रीट लाईट के पोलो पर विज्ञापन का अधिकार नही देता इसलिए हम इन लाईटों को ठीक नही करते। वही नगर निगम के लाईट इंचार्ज राणा का कहना है कि स्ट्रीट लाईट अभी उनके सुपर्द नही की गई है इसलिए हम उसे ठीक नही करतें।


गौरतलब है कि दून द्वार के इस र्माग पर आये दिन अंधेरा होने के कारण दुर्धटनायें होती रहती है।ग्राम प्रधान भारूवाला ग्रांट की प्रधान कुशुम वर्मा ने एमडीडीए और नगर निगम पर जनता की घोर अनदेखी का आरोप लगाया है। वही कांग्रेस नेता समाजसेवी रमेश कुमार मंगू ने कहा कि दोनों विभागों की गलती के कारण इस मार्ग पर लगातार दुर्धटनाओं हो रही है जिसके लिए दोनो विभाग जिम्मेदार है,ं शासन प्रसाशन का के उदासीन रवैये से यह कार्यदायी संस्थाये बेखौफ हो कर चैन की नींद सो रही है।