श्री राम मंदिर शिलान्यास पर देशभर में जश्न का माहौल

 442 साल बाद भगवान राम के मंदिर का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ प्रमुख मोहन भागवत  समेत अनेक गणमान्य व्यक्तियों के सानिध्य में हुआ। इस अवसर पर देशभर में राम भक्तों ने अखंड रामायण और सुंदरकांड का पाठ कर भगवान राम के प्रति अपनी श्रद्धा भक्ति जताई। भगवान राम के मंदिर का शिलान्यास अयोध्या में होने के उपलक्ष में अमेरिका यूरोप सहित दुनिया के कई देशों में राम भक्ति का गुणगान किया गया।

देवभूमि उत्तराखंड में भी 4 अगस्त सही भक्तिमय माहौल देखने को मिला। जहां लोगों ने घरों और मंदिरों में पूजा अर्चना के साथ-साथ अखंड रामायण और सुंदरकांड का पाठ किया, वहीं मंदिरों में लोगों ने भजन और कीर्तन कर भगवान राम के गुणगान किया । पौड़ी में माता सीता मंदिर को भव्य तरीके से सजाया गया जहां पर भजन कीर्तन के साथ साथ लोगों ने अखंड रामायण का भी पाठ किया ।वही बद्रीनाथ और केदारनाथ में भी राम भक्तों ने भजन कीर्तन कर खुशी का इजहार किया।

देहरादून में बजरंग दल द्वारा सवा कुंटल का लड्डू बनाकर राम दरबार में भोग लगाया गया, इसके साथ ही बजरंग दल के युवाओं ने घंटाघर से हनुमान मंदिर तक एक भव्य शोभायात्रा निकालकर सभी राम भक्तों में मिठाइयां बांटी। वही निरंजनपुर मंडी में अध्यक्ष राजेश कुमार शर्मा ने सभी अतिथियों एवं फल सब्जी विक्रेताओं को भगवान राम मंदिर के शिलान्यास की शुभ घड़ी पर मिठाइयां बांटी। पूरे देश में साय कालीन समय पर दीपोत्सव और आतिशबाजीयों के साथ जमकर जश्न मनाया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने उद्बोधन में राम मंदिर शिलान्यास को एक ऐतिहासिक क्षण बताया। राम मंदिर शिलान्यास के साथ ही करोड़ों हिंदुओं की आस्था का प्रतीक श्री राम मंदिर के निर्माण की शुरुआत हो गई है जिससे देश और दुनिया में रहने वाले करोड़ों हिंदू धर्मावलंबियों मैं खुशी और उत्साह का माहौल बना हुआ है।