शिद्धपीठ शैलेश्वर महादेव सांस्कृतिक तथा विकास मेले में स्कूली बच्चों व ग्रामीण महिलाओं ने दी रंगारंग प्रस्तुती।

चमोली:शिद्धपीठ शैलेश्वर महादेव सांस्कृतिक तथा विकास मेले के तीसरे दिन महिला मंगल दलों तथा स्कूली बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। डूंगरी गाँव की महिलाओं ने शानदार पारंपरिक चौन्फुला तथा झुमेला का प्रदर्शन कर लोगों को मन्त्र मुग्ध कर दिया।

प्राथमिक विद्यालय डूंगरी, बैनोली,एरोली,मलेठी,की नन्हे नन्हे बचों ने एक से बढ़ कर एक देश भक्ति के भाव से परिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। मेले का मुख्य आकर्षण 14 गाँव की टीमों के मध्य हो रही रस्सा-कस्सी प्रतियोगिता है।

बैनोली,तोली ,डूंगरी, की टीमों ने बढ़त बनाई तथा क्वाटर फाइनल में प्रवेश किया।स्व गोदाम्बरी ट्र्स्ट नई दिल्ली की तरफ से चांदपुर क्षेत्र के बिध्यालयों में हाई स्कूल तथा इन्टर की बोर्ड परिक्षाओं मैं 80 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र,छात्राओं को प्रशस्ति पत्र,500 रूपये का नगद चेक तथा स्मृति चिन्ह प्रदान किये गए। स्व0 श्रीमती गोदाम्बरी स्मृति ट्रस्ट नई दिल्ली द्वारा नियुक्त अनुदेशकों को भी सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्र के समाजसेवी  अवतार सिंह भंडारी,विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत सदस्य  गायत्री देवी,नवीन बहुगुणा,मेला अध्यक्ष  गबर सिंह रावत,शिशुपाल सिंह नेगी, लक्ष्मी रावत, मेला सचिव राजेन्द्र सिंह,लक्ष्मन सिंह रावत,मैती के संस्थापक कल्याण सिंह रावत,त्रिलोक सिंह रावत,हुकम सिंह चौधरी,बिन्नी,सञ्चालन लक्ष्मन सिंह राणा तथा चौधरी ने कार्यक्रम में सिरकत की।