म्याणी गांव में शराब और डीजे पर पूर्ण प्रतिबंद- हिमवंत प्रदेश न्यूज़

सार्वजनिक कार्याे में शराब के विरोध की मुहिम में म्याणी गांव भी जुड़ गया है। ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान सरोजनी देवी की अध्यक्षता में आम बैठक के दौरान यह फैसला लिया।
टिहरी जिले के जौनपुर क्षेत्र के लालूर पटटी म्याणी गांव में ग्राम प्रधान सरोजनी की अध्यक्षता में एक आम बैठक में ग्रामीणों ने सर्व सहमति से यह तय किया गया कि शादी समारोह में अंग्रेजी शराब आयोजक परिवार की ओर से पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगी। साथ ही डीजे पर भी पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। परम्परागत बाध्य यंत्रों से ही अतिथियों का स्वागत किया जायेगा।
ग्रामीणों ने यह भी तय किया कि बेटा या बेटी के जन्म की खुशी में बकरे की बलि पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। और अभी तक ब्राहमणों की शादी में यजमानों द्वारा दिये जाने बाले बकरे पर भी प्रतिबंध रहेगा। शादी की दावत एक दिन की ही रहेगी। ग्रामीणों ने कहा कि पंचायतों में लिए गये फैसले का पालन न करने वाले परिवार का सामाजिक बहिस्कार किया जायेगा। और अन्य कोई भी सदस्य विवाह समारोह में सामिल नही होगा।


गौरतलब है कि, इससे पहले शादी की दावत तीन दिन तक दी जाती थी। जिसमें पहले दिन शादी में बरातियों, गांव वालों और अन्य मेहमानों को दी जाती थी। दूसरे दिन शादी में काम करने वाले संवार (कार्यकर्ताओं) की और तीसरे दिन गांव की विवाहित महिलाओं (रहणिंयों) की दावत दी जाती है।
विधायक राजपुर खजान दास और जिला पंचायत सदस्य अमेंद्र बिष्ट ने ग्रामीणों के इस कदम को सराहनीय बताया। बैठक के दौरान अनिल कैन्तुरा, भाव सिंह पंवार,सूरत सिंह सजवाण,हुकम सिंह रमोला,लाखीराम चैहान,,राजेश सजवाण,गुलाब सिंह पंवार,महिपाल सिंह, दिनेश पंवार,जयपाल पंवार,गोपाल सजवाण,सुरेश रमोल,सियाराम, विक्रम सिंह रावत,जबर शाह,शांति पंवार,नारायणी देवी,सुनीता देवी,नीरो देवी,और भानी देवी आदि मौजूद थे।