समाजसेवी विनोद बछेती की नायब पहल भारत के बच्चे संवारेंगे जापान में अपना भविष्य

समाज सेवी विनोद बछेती की महत्वपूर्ण पहल,भारत के बच्चों को जापान में मिलेगा अपना भविष्य संवारने का मौका

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में रहते हुए पहाड़ के लिए समर्पित विनोद बछेती ने उत्तराखंड के नौजवानों सहित देश के असंख्य युवाओं के भविष्य के उत्थान के लिए एक नयी पहल की है। जिसके तहत विनद बछेती जी ने जापान से दिल्ली आए ‘जापान अची प्रीफेक्चर’ के युवा उद्यमियों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात कर भारत में होटल व्यवसायी एवं पैरामेडिकिल के क्षेत्र अपना भविष्य तलाश रहे नौजवानों को जापान में रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण बैठक की,जिसमें इन जापानी युवा उद्यमियों ने भारत के नौजवानों को जापान में होटल व्यवसाय और पैरामेडिकल के लिए क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया है।
पौड़ी गढ़वाल के सितोनस्यू पट्टी के ग्राम कांडा में जन्में विनोद बछेती पिछले 23 वर्षों से दिल्ली में रहते हुए,पहाड़ के उस हर व्यक्ति के साथ खड़े नजर आते है। जिन्हें सही मायने में मदद की आवश्यकता होती। फिर चाहे वह पहाड़ के लोगों और तमाम सामाजिक संगठनों को एक जुट एक मुट करने का मामला हो,या फिर उत्तराखंड़ी भाषा-बोली,उत्तराखंडी भाषा अकादमी और सांस्कृतिक पटल पर उत्तराखंड के सम्मान के बाद हो,विनोद बछेती की भूमिक उस हर मंच पर नजर आती है। जहां पहाड़ के सम्मान की बात होती है।
‘जापान अची प्रीफेक्चर’ के युवा उद्यमियों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात और पहाड़ एवं देश के युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के मामले में विनोद बछेती बताते हैं कि यह सच में हमारे लिए एक महत्वपूर्ण अनुभव है। साथ ही हमारे बच्चों को लिए सफलता की नयी सीढ़ी,जिस पर चढ़ कर हमारे नौजवान निश्चित तौर पर नयी सोच के साथ आगे बढ़ेंगे।
‘जापान अची प्रीफेक्चर’ के युवा उद्यमियों के प्रतिनिधि मंडल से हुई मुलाकात के बारे में बताते हुए श्री बछेती ने बताया कि आज की हमारी मुलाकात बहुत ही सफल रही। जिसके तहत उत्तराखंड सहित देश के अन्य राज्यों से हमारे नौजवानों को होटल व्यवसाय और पैरामेडिकल के क्षेत्र में जल्द ही रोजगार के अवसर मिलेंगे। जिसके लिए हम ‘जापान अची प्रीफेक्चर’ को होटल व्यवसाय एवं पैरामेडिकल के क्षेत्र में अनुभवी और कुशल युवाओं की टीम का चयन कर उनके भविष्य निर्माण की दिशा में नयी भूमिका निभाएगे।
इस अवसर विनोद बछेती ने ‘जापान अची प्रीफेक्चर’ के युवा उद्यमियों के प्रतिनिधि मंडल को उत्तराखंड के लोग वाद्य का प्रतिक चिन्ह ढोल-दमाउ भेंट स्वरूप प्रदान किया। जिसके लिए ‘जापान अची प्रीफेक्चर’ के युवा उद्यमियों ने विनोद बछेती और उनकी पूरी टीम का आभार प्रकट किया।