रैणी गांव के ग्रामीण दहशत में,बताई आंखों देखी

चमोली जिले के आपदा प्रभावित क्षेत्र रैणी की है, जहां पर ग्रामीणों ने बीते रोज आई आपदा के बारे में ग्रामीणों ने दहशत का माहौल है। उन्होंने कहा इससे पहले उन्होंने इस तरह का जल सैलाब नहीं देखा बता दे रैणी गांव के भी 5 लोग लापता है। वहीं मौत के मुंह से बाहर निकले गोदावरी देवी का कहना है कि अचानक आई बवंडर के कारण उनकी सास जल सैलाब में बह गई और उनका बेटा और वह किसी तरह बच गए, उनके घर में शोक। माहौल है। साथ ही उनका लड़का इस घटना के बाद गुमसुम है। वही गोदंबारी देवी ने बताया कि नदी के दूसरी ओर काम कर रही महिला भी इस जन सैलाब में बह गए।

वही प्रत्यक्षदर्शी कलम सिंह राणा का कहना है कि जल सैलाब को देखकर पूरा गांव वाले एकदम घबरा गए और अपने बचाव के लिए ऊंचाई वाले स्थानों पर पहुंच गए बीते दिन के मंजर को याद करते हुए उनके रोंगटे खड़े हो जा रहे हैं उन्हें कहा कि यह दिल दहलाने वाली घटना थी अचानक इतना जल सैलाब देखकर उन लोगों को कुछ भी नहीं सोचा और वे लोग अपना सामान उठाकर ऊपर जंगल की ओर भाग गए। रात भर बोलो भूखी प्यासी रहे।

– वही इस जल सैलाब में अपने भाई को खोए दिगंबर सिंह राणा का कहना है कि उनका भाई रणजीत ऋषि गंगा हाइड्रोपावर में काम करता था। वही एकमात्र कमाने वाला था। उसका इस तरह से चले जाना उन लोगों के लिए आहत करने वाली बात है वही कल से उनकी मां के रो रो के बुरा हाल हैं वह कुछ भी बोलने के हालात में नहीं है।