राजा रघुनाथ की डोली का क्षेत्रवासी कर रहे है भव्य स्वागत व सत्कार।

नैनबाग:
मोहन थपलियाल


पट्टी गोडर का 27 गाँव का आस्था और विश्वास का प्रतीक राजा रघुनाथ की डोली आजकल 27 गांव भ्रमण पर है। ग्राम लोदन में देव डोली पहुंचने पर ग्रामीणों ने भव्य स्वागत के साथ दर्शन कर सुख समृद्धि की कामना की।
27 गांव का कुल देव राजा रघुनाथ की डोली प्रत्येक गांव के भ्रमण पर निकली है । जो कि हर गांव में देव डोली रात्री विश्राम कर ग्रामीण दर्शन कर कुशल क्षेप की प्रर्थाना करते है। भ्रमण के दौरान ग्राम लोदन में पहुंचने पर भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने देव डोली के दर्शन कर मन्नतें मांगी , गांव में डोली के प्रवेश के बाद पंचायती चौक में दर्जनों देवता के पशु अवतरित हो गये। और देव डोली गांव व क्षेत्र के लिए सुख-समृद्धि और अच्छी फसल होने की कामना की ।

वही मध्य रात्री तक लोक संस्कृति पर आधारित लोक नृत्य तांदी, रासो छैपुती आदि की सुंदर प्रस्तुति पर ग्रामीण व वाहर से आए अतिथिगण जमकर रासों व तांदी गीत पर थिरके ।
डोली 27 गांव भ्रमण करने के बाद स्थान गांव कंडारी में मूल मंदिर में विराजमान होगी। जहां की माह भादो में देवता का जागरण पर्व आयोजित किया ।
देवता के मालिक गजेंद्र दत्त गौड़ का कहना है कि सच्चे मन से देव की प्रर्थाना व मन्नत मांगने पर इच्छाएं पूर्ण होती है। साथ ही खेती-बाड़ी आदि के विवाद आपस में न सुलझाने पर देवता की थाल पर ढोङकर देवता द्वारा न्याय का निपटारा आज तक करते आए है। परिणाम आज भी कई मकान व जीमन बंजर पडी है।
इस अवसर पर रघुनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष सीताराम गौड, सोमवारी लाल गौड़, दिनेश प्रसाद नौटियाल, सुमारी लाल नौटियाल, चंद्रमोहन गौड ,गुरुप्रसाद, लोकेंद्र नौटियाल, चमन दास, राजेश नौटियाल, शिवदास, सोहनलाल नौटियाल ,राजेश आदि उपस्थित थे