एक अनोखा क्वरंटाइन सेंटर

उत्तराखंड के पर्वतीय जिलो से ग्रामीण क्षेत्रों में बनाये गये  क्वरंटाइन सेंन्टरों से अव्यवस्थाओं की खबरें आ रही है। इन सेन्टरों में कही लोगों को खाना नहीं मिल रहा है तो कही रहने के लिए विस्तर,एसे में लोग चोरी छिपे अपने घर जा रहें है। जिससे कोरोना वायरस का संक्रमण बडने का खतरा बडता जा रही है।लेकिन कई क्षेत्रों में ग्राम प्रधान व ग्रामीण काफी सजग नजर आ रहे है।

ऐसा ही एक मामला पौड़ी गढवाल के नैनीडांडा व्लाक का सामने आया है। जहां पर ग्राम प्रधान व ग्रामीणों ने  क्वरंटाइन किये गये लोगों की परेसानियों को देखते हुए गांव के बाहर कैम्पिंग टैंट की व्यवस्था की है। जिससे बाहर से आने वाले प्रवासियों को फाफी सहुलियतें मिल रही है। ग्रामीणों की इस तरह की व्यवस्था पर प्रवासी ग्रामीण काफी खुश है।