भाजपा जिला कोषाध्यक्ष पर राशन किट में घोटाले का आरोप

 

जसपुर में लोगों की शिकायत पर उपजिलाधिकारी द्वारा जांच कराने पर किट में राशन की मात्रा कम पाई गई जिसके बाद विजय फुटेला के खिलाफ घोटाले का मुकदमा दर्ज करवाया गया है।

,गरीबो के पेट काट कर भर रहे है अपने खजाने को भाजपा कोषाध्यक्ष विजय फुटेला द्वारा सप्लाई की जा रही राशन किट में गड़बड़झाले सूचना कुछ लोगों द्वारा एसडीएम सुंदर सिंह को दी गई जिस पर एसडीएम ने मौके पर जाकर शिकायतकर्ताओं की शिकायत पर राहत राशन किट की गुणवत्ता की जांच की। जब किट नापतोल की गई तो गड़बड़झाला खुलकर सामने आ गया।

लगभग 10 राहत राशन किटों में राशन सामग्री कम पाई गई। जिसके बाद राशन किट के सप्लायर एवं भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष विजय फुटेला के खिलाफ जसपुर कोतवाली में आईपीसी की धारा 188/409/420, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 56, महामारी अधिनियम 1897 की धारा 3 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

एसडीएम सुंदर सिंह तोमर ने बताया कि विजय फुटेला को राशन किट की सप्लाई का ठेका दिया गया था जो उनकी सागर ट्रेडिंग कंपनी द्वारा एसडीआरएफ को सप्लाई किया गया था। जब यह सामान लोगों को वितरित किया गया तो फिर सामान कम पाए जाने की शिकायत की गई थी। एसडीएम ने बताया कि जब पूर्ति निरीक्षक आदि संबंधित अधिकारियों के सामने 10 अन्य बोरियों की जांच की गई तो उनमें भी सामान कम निकला। जिसके बाद आरोपी सप्लायर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने के आदेश दिये गये हैं।

वहीं प्रभारी कोतवाल ललित मोहन जोशी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी।

पूर्व सप्लायर पर घोटाले के आरोप लगाकर विजय फुटेला ने स्वयं हासिल किया था राशन किट सप्लाई का ठेका

आपको बता दें कि पूर्व में प्रशासन द्वारा राशन किट सप्लाई का ठेका 800 रुपये प्रति किट के हिसाब से दिया हुआ था। जिस पर फुटेला ने उधम सिंह नगर जिले में राशन किट आपूर्ति में मुनाफाखोरी का आरोप लगा था और प्रशासन को ऑफर दिया था कि वे यह किट 710 रुपये में उपलब्ध करा सकते हैं। इसके बाद पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ व भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल ने मामले में जांच की मांग की थी और मुनाफाखोरी के आरोप में व्यापार मंडल महामंत्री व युवा महामंत्री ने इस्तीफा भी दे दिया था। जिसके बाद प्रशासन ने घोटाले का खुलासा करन वाले विजय फुटेला को ही राशन किट सप्लाई का ठेका दे दिया था।

वहीं, जिला पूर्ति अधिकारी श्याम आर्या ने आवाज उठाने वाले फुटेला को समान गुणवत्ता के किट 710 के रेट में उपलब्ध कराने को कहा था तथा राशन किट नहीं देने पर विभिन्न धाराओं में कार्रवाई की चेतावनी भी दी थी।