“उडान” स्कूल ने लिया पर्यावरण संरक्षण का संकल्प।

मायाकुंड स्थित निःशुल्क शिक्षण संस्थान उड़ान स्कूल में विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित कर पर्यावरण सरंक्षण का संकल्प लिया गया। इस मौके पर संस्थान के निदेशक डॉ राजे नेगी ने बताया कि विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस प्रतिवर्ष ’26 नवम्बर’ को मनाया जाता है। यह दिवस पर्यावरण संतुलन को बनाए रखने एवं लोगों को जागरूक करने के सन्दर्भ में सकारात्मक कदम उठाने के लिए मनाते हैं। यह दिवस ‘संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम’ (यूएनईपी) के द्वारा आयोजित किया जाता है। पिछले करीब तीन दशकों से ऐसा महसूस किया जा रहा है कि वैश्विक स्तर पर वर्तमान में सबसे बड़ी समस्या पर्यावरण से जुडी हुई है।

 

इस अवसर पर स्कूली बच्चो द्वारा स्लोगन लिखे पोस्टरो के माध्यम से आमजन से भी पर्यावरण सरक्षंण की अपील की गयी। स्कूल की शिक्षका दिव्या सक्सेना ने कहा कि अगर हम लोग अपने अपने जन्मदिन खास त्योहारों लोकपर्वो के अवसर पर पौधरोपण करें तो एक व्यक्ति अपने पूरे जीवन काल मे 100 पेड़ तो लगा ही सकता है।इस प्रकार से वो अपना प्रकृति के प्रति अपना योगदान भी निभा सकता है। शिक्षका निधि शर्मा ने कहा कि आज वायु, ध्वनि,जल एवम मृदा प्रदूषण के बढ़ते प्रभाव के कारण पर्यावरण संरक्षण हम सभी के लिए एक चुनोती बन चुका है।जिसका प्रभाव रोकने के लिए हम सभी को मिलकर सार्थक प्रयास करने होंगे।मानव द्वारा अपनी बढ़ती जरूरतों के लिए रोजाना किये जा रहे वृक्षो के अंधाधुंध कटान से भी पर्यावरण को लगातार क्षति हो रही है। इस मौके पर स्कूल के प्रबंधक रमेश लिंगवाल ऋचा रावत दीक्षा पयाल उत्तम असवाल रवि कुकरेती प्रिया क्षेत्री मंजू देवी उपस्थित थे।