प्रान्तीय चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा संघ देहरादून की प्रथम बैठक, में सात सूत्रीय मांगों का प्रस्ताव।।

प्रांतीय चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा संघ देहरादून की प्रथम बैठक में सात सूत्रीय मांगें का प्रस्ताव।


प्रान्तीय चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा संघ देहरादून शाखा की एक गोष्ठी में तमाम पदाधिकारियों ने चिकित्सा सेवा में कार्यरत डॉक्टरों की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की। चिकित्सा संध के अध्यक्ष डॉ एस एन सिंह ने पदाधिकारियों के सामने सात सूत्रीय मांग को सबके  रखा।

प्रमुख मांगों में जनपद देहरादून के मुख्य चिकित्साधिकारी के आवास हेतु अतिशीध्र भूमि आंवटन और भवन निमार्ण,वीवीआपी,बीआईपी,पोस्टमार्डम,कैम्प डुयूटी,स्पोटॅस ईवेन्ट में विशेषज्ञ डॉक्टरों की डॅूयूटी न लगाने,7 अप्रैल विश्व स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष में उत्कृष्ठ चिकित्साधिकारियों को पुरस्कृति करने,राज्य के चिकित्सकों का दर्शनीय व आर्कषक लोगों बनवाने,मेडिकल सेवा में आयु सीमा 57 से घटाकर 55 करने,महानगर के पास संध के लिए कार्यालय उपलब्ध करने,और डीएसीपी का लाभ सभी चिकित्सकों को अतिशीध्र देना आदि मांगे सामिल है।


प्रान्तीय चिकित्सा संध स्वास्थ्य सेवा संध के सचिव डॉ पी एस रावत ने सभी सदस्यों एवं पदाधिकारियों से संघ में सहयोग व एकता बनाये रखने की अपील की। उन्होंने मीटिंग में पहुचने पर सभी सदस्यों का आभार भी प्रकट किया।इस दौरान संरक्षक डॉ एस के गुप्ता,उपाध्यक्ष के आर सोन,डॉ सुनील अग्रवाल,डॉ नीना सैनी,डॉ पीयूष त्रिपाठी,डॉ बी एस टोलिया,डॉ राहुल जोशी समेत कई लोग मौजूद रहें।