पॉलीटेक्निक पोखरी पारतोली के भवन निमार्ण में लापरवाही से क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों में आक्रोश।

-भवन निमार्ण में देरी के लिए क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि करेगें 23 अक्टूबर को जन आक्रोश रैली।
-अधूरे भवन में रहते है रात को जंगली जानवर,ग्रामीणों में भय का माहौल।
-भवन निमार्ण कार्य पूर्ण न होने से दर- दर भटक रहे है कॉलेज के छात्र-छात्रायें।
-बद्रीनाथ विधायक महेन्द्र भट्ट पर लगाये अनदेखी के आरोप।


                    //भानु प्रकाश नेगी//


चमोली/पोखरी/उडामाण्डाःयूपी निर्माण निगम की लापरवाही के कारण राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज पोखरी पारतोली कई सालों से शुरू नही हो पाया है।निमार्ण दायी संस्था द्वारा दिल्ली की कम्पनी एम.जे.आई को कार्य सौपा गया था लगभग 70 प्रतिसत काम होने के बाद कम्पनी ने काम करने से मना कर दिया है। कम्पनी का आरोप है कि निर्माणदायी संस्था उन्हें बाकी की धनराशि उपलब्ध नही करा रही है जिससे बाकी का काम नही हो पा रहा है,भवन में मुख्य रूप से दरवाजे खिड़कियों,टाईलस,आदि लगाने का काम बाकी है।

पूर्व कैविनेट मंत्री व विधायक राजेन्द्र भण्डारी का कहना है कि कार्यदायी संस्था व सरकार की लापरवाही के कारण भवन निर्माण कार्य अधूरा पडा है। जिसके कारण भवन में लाखों रूपये का सामान खराब हो रहा है भवन में दरवाजा न होने के कारण यहां जंगली जानवरों का अड्डा बन गया है, जिससे ग्रामीण भय के माहौल में जी रहे है। राजनीतिक बदले की भावना से यह कार्य पूरा नही हो पा रहा है। जिससे बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है।भवन का रख रखाव न होने से निमार्ण कार्य खण्डहर में तब्दील हो रहे है। पारतोली व उडामाण्डा के बीच रास्ता खराब हो गया है लागों आवाजाही को भारी परेसानियों का सामना करना पड रहा है। स्थानीय छात्र छात्राओं को आई टी आई भवन देवरखाल में दूसरी पाली में पढाई करने जाना पड रहा है।परीक्षा हॉल न होने की वजह से बच्चों को गौचर पॉलीटेक्निक में जाना पडता है।जिससे आम जनता को भी भारी परेसानियों का सामना करना पड रहा है। उन्होनें कहा कि क्षेत्रीय जनता छोटी-छोटी समस्याओं के लिए दर-दर भटक रही है और वर्तमान विधायक महेन्द्र भट्ट मध्य प्रदेश चुनावों में व्यस्त है।


क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों ने पॉलीटेक्निक कॉलेज के निमार्ण में देरी पर भारी रोष जताते हुए पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र भण्डारी की अध्यक्षता में पारतोली (उडामाण्डा) में एक बैठक की जिसमें क्षेत्र के एक दर्जन से भी अधिक जनप्रतिनिधियों और भारी संख्या में क्षेत्रीय जनता ने प्रतिभाग कर निमार्ण दायी संस्था व वर्तमान सरकार को जमकर कोसा। बैठक के दौरान तय किया गया कि आगामी 23 अक्टूबर को समस्त पोखरी ब्लाक की जनता व स्थानीय जन प्रतिनधि के साथ जन आक्रोश रैली निकाली जायेगी और उप-जिलाअधिकारी के माध्यम से शासन व कार्यदायी संस्था को ज्ञापन दिया जायेगा। जन प्रतिनिधियों ने चेताया कि एक माह के अर्न्तगत पॉलीटैक्निक कॉलेज का कार्य दुबारा शुरू नहीं हुआ तो क्षेत्रीय जनता व जनप्रतिनिधियों द्वारा आमरण अनसन किया जायेगा जिसकी सारी जिम्मेदारी निमार्णदायी संस्था व शासन-प्रशासन की होगी।

ग्रामीणों का कहना है, कि हमाने अपनी 51 नाली जमीन पॉलीटैक्निक कॉलेज के लिए दी है जिससे क्षेत्र के बच्चों की तकनीकी शिक्षा में सुधार व भविष्य उज्वल हो सकें। लेकिन कार्यदायी संस्था की वेरूखी व वर्तमान क्षेत्रीय विधायक की लापरवाही के कारण पॉलीटैक्निक भवन का कार्य नही हो पाया है। ग्रामीणों का कहना है कि वर्तमान बद्रीनाथ विधायक महेन्द्र भटट की बेरूखी के कारण बैठक के लिए पूर्व बद्र्रीनाथ विधायक व पूर्व कैवनेट मंत्री राजेन्द्र सिंह भण्डारी को बुलाया गया। जिसका उन्होंने पूर्ण सहयोग देने की बात कही है।