पॉलिथीन मैं बंद जूठे भोजन को खाने के लिए मजबूर हुआ गुलदार

पिछले दिनों हल्द्वानी के जिम कार्वेट नेशनल पार्क में गुलदार के जुठन खाने की तस्बीर सीसीटी कैमरे में कैद हो गई थी। यह माना जा रहा था कि जंगलां में शिकार की कमी के कारण गुलदार अब जूठन खाने को मजबूर है। वहीं वन विभाग के मुखिया जयराज का कहना है कि गुलदार विकट परिस्थित में अपने आप को डालने वाला जानवर है जो अक्सर शिकार कर ही खाता है।लेकिन इसकी वजह यह हो सकती है कि इनकी संख्या में हॉल के सालां में काफी वृद्वि हुई है। जो पहले जंगलां के अन्दर ही शिकार करता था लेकिन अब आसन शिकार के लिए रिहायसी इलाकों में कुत्तों व सुअरों के लिए आता है। आपको बता दे कि अकेले उत्तराखं डमें गुलदारों की संख्या 2500 से ज्यादा है। जबकि बाघों की कुल संख्या 350 के लगभग है।