केदारनाथ से PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को केदारनाथ मंदिर के भव्य और दिव्य पुनर्निमाण की रूपरेखा का अनावरण किया। उन्होंने राज्य सरकारों के साथ-साथ उद्योग और व्यापार जगत से भी इसमें आगे आकर योगदान का आह्वान किया और कहा कि देश इस काम के लिये धन की कमी को आड़े नहीं आने देगा।

वही केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की केदारनाथ यात्रा को निरासाजनक बताया।उन्होनें कहा जिन योजनाओं का शिलान्यास प्रधानमंत्री मोदी ने आज किया उनकी नींव पूर्व में कांग्रेस सरकार द्वारा रखी जा चुकी है। शिलापट पर क्षेत्र के विधायक का नाम तक नही होने से उन्होने नाराजगी जताई साथ ही उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत का नाम शिला पट्ट पर अंकित होने पर उन्होंने आपित जताई। उन्होनें कहा कि भाजपा की डबल इंजन सरकार के 7 माह बीत जाने पर भी केदारनाथ क्षेत्र में जनसस्यायें ज्यो की त्यों बनी हुई है। केन्द्र व राज्य सरकार क्षेत्र में बन रहें पुलों व अन्य विकास कार्यो के लिए जानबूझ कर धन आवंटित करने में रोडा अटका रही है।

                 10 खास बातें 

1. केदारनाथ धाम पहुंचकर भगवान शिव की पूजा अर्चना करने के बाद जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, केदानाथ भव्य, दिव्य और प्रेरणा का स्थान बनेगा। मोदी ने कहा कि इस काम के लिये देश धन की कमी नहीं रखेगा। उन्होंने कहा, मैं जानता हूं कि इसमें खर्च होगा। जैसा पुनर्निमार्ण होना है, वैसे पुनर्निमार्ण के लिये देश धन की कमी नहीं रखेगा। मैं देश की (विभिन्न राज्य) सरकारों को भी इसमें सहभागी होने के लिये निमंत्रित करूंगा। कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के तहत मैं उद्योग और व्यापार जगत के लोगों को भी इसमें हाथ बंटाने के लिये निमंत्रण दूंगा।

केदारनाथ में मोदी: कहा- जब मैं CM था, तब मुझे पुनर्निर्माण से रोका गया

2. इस संबंध में पीएम मोदी ने जेएसडब्लू (कंपनी) का आभार जताया और कहा कि उन्होंने प्रारंभिक काम के लिये जिम्मेदारी उठाना स्वीकार कर लिया है।

3. पीएम मोदी ने यह भी कहा कि जब इतना सारा धन लगेगा, इतना सारा आधारभूत ढांचा तैयार होगा तो इसमें पयार्वरण के नियमों का भी पूरा-पूरा ध्यान रखा जायेगा। विकास के साथ यहां की संस्कृति और परंपरा को बनाया रखा जाएगा। मोदी ने बताया कि हम एक आधुनिक उत्तराखंड बनाना चाहते हैं लेकिन इस दौरान हम पर्यावरण के सभी नियमों का पालन भी करेंगे।

4. प्रधानमंत्री ने कहा कि केदारनाथ में पुनर्निमार्ण के बाद यात्रियों की सुविधाओं का पूरा इंतजाम किया जाएगा। यहां 24 घंटे बिजली रहेगी और टेलीफोन और इंटरनेट सुविधा का भी पूरा ख्याल रखा जाएगा।

5. पीएम मोदी ने कहा कि केदारपुरी को पूरी तरह से आधुनिक बनाया जाएगा और उन्हें विश्वास है कि बाबा केदारनाथ के आशीर्वाद से आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर 2022 तक उनका यह संकल्प पूरा हो जाएगा।

6.  पीएम मोदी ने कहा कि केन्द्र यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रही है कि पहाड़ी संसाधनों को केवल पहाड़ों के विकास के लिए ही सुरक्षित रखा जाए।

7. यहां पीएम मोदी ने 5 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। पीएम ने बताया कि आपदा के बाद नई केदारपुरी के विकास और पुनर्निर्माण का खांका खींचा गया है। अब पुरोहितों को जो मकान मिलेंगे, वे 3 इन 1 होंगे। बिजली, पानी और स्वच्छता का पूरा प्रबंध होगा।

8. पीएम ने कहा कि गौरीकुंड से केदारनाथ धाम के पैदल ट्रैक को चौड़ा करने का काम भी सरकार करेगी।

9. पीएम मोदी ने कहा कि योजनाओं के तहत मंदाकिनी और सरस्वती नदी के तट पर घाट बनाए जाएंगे। मंदाकिनी और सरस्वती के तट को लाइटिंग के साथ बेहतर किया जाएगा।

10. मोदी ने कहा कि आदि गुरू शंकराचार्य की समाधि का भी पुनर्निर्माण भी होगा।