कोरोनेशन अस्पताल में न्यूरो की प्रथम सफल सर्जरी

न्यूरों सर्जन राहुल अवस्थि और टीम में खुशी का माहौल
देहरादून
कोरोनेशन अस्पताल में ने अपने सफलता की एक और सीडी को पार कर लिया है। अस्पताल में नव नियुक्त राहुल अवस्थि ने न्यूरो की प्रथम सफल सर्जरी कर जरूरत मंद और गरीबों के लिए एक आशा की किरण जगाई है।सीएमएस डॉ पुनेठा ने सर्जरी की पूरी टीम को बधाई व शुभकामनायें दी।

कोरोनेसन अस्पताल के सीएमएस सीनियर सर्जन डॉ.एल.सी.पुनेठा का कहना है कि कोरोनेशन अस्पताल के लिए आज काफी खुशी भरा दिन रहा है काफी दिनों से न्यूरों सर्जरी के लिए डॉ अवस्थि प्रयास कर रहे थे हमारे यहां पर सर्जरी का जरूरी सामान नही था। लेकिन हमने अब काफी सामान सर्जरी का जुटा लिया है। जिससे अभी यहां पर रीड़ की हड्डी के ऑपरेसन शुरू कर दिये गये है,हमारा भरसक प्रयास है कि हम जल्द से जल्द यहां पर आईसीयू वार्ड बनाये ताकि दिमाग की सर्जरी भी शुरू की जा सके। न्यूरो सर्जन डॉ राहुल अवस्थि की मेहनत रंग ला रही है,वह गरीबों व जरूरत मंदों के लिए काम करना चाहते है। मेरी ओर से हर संभव मदद का प्रयास रहेगा। मेरी कोशिस है कि मै डायरेक्टेड की ओर से भी यहां पर हर संभव सहायता करा संकू।

वही न्यूरो सर्जन डॉं.राहुल अवस्थि का कहना है कि, पिछले कई दिनों से सर्जरी की तैयारी चल रही थी,लेकिन उचित सर्जरी के जरूरी औंजारों के बिना यह संभव नही हो पा रहा था,यह मरीज पौडीं जिले का थैलीसैंण का रहने वाला है इसके काफी दिनों से रीड़ की हड्डी में दर्द हो रहा था मरीज को चलने फिरने में भी परेसानी हो रही थी। मरीज का स्पाइन का ऑपरेसन किया गया है जो सफल रहा। शुरवात इसी तरह के ऑपरेसन किये जा रहे है क्योंकि दिमाग के ऑपरेसन के लिए अभी अस्पताल में आईसीयू की व्यवस्था नही है। धीरे-धीरे व्यवस्था होने पर दिमाग के ऑपरेसन भी यहां किये जायेगें ताकि गरीब और जरूरत मंद मरीजों को दर-दर भटकना न पडे। कोरोनेसन अस्पताल में प्रथम न्यूरो सर्जरी करने के बाद डॉ अवस्थि का काफी खुश नजर आये उनका कहना था कि गरीबों की मदद कर मुझे काफी अच्छा लगता है।


ऑपरेसन के बाद मरीज ने बताया कि डॉ. अवस्थि की वजह से मेरा सफल ऑपरेसन हो पाया है। जिसमें अस्पताल के सीएमएस डॉं. पुनेठा का बहुत सहयोग रहा है। मैने सोचा भी नहीं था कि मेरा इलाज इतनी जल्दी हो पायेगा। क्यांकि मेरी आर्थिक हालत काफी कमजोर है अस्पताल प्रशासन और ऑपरेसन टीम का मै आभारी हूंॅ।

          Bhanu Prakash Negi