हर्ष उल्लास के साथ मनाया नागदेवता का पौराणिक जागड़ा पर्व

मोहन थपलियाल
नैनबाग-
पट्टी लालूर क्षेत्र का सुप्रिद्ध नागदेवता का पौराणीक जागडे पर्व हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है। जिसमें आम जनता ने देव डोली के दर्शन कर सुख समृद्धी व अच्छी फसल होने की प्रर्थाना करते है।
मंगलवार रात्री को असोज की संक्राती को हर साल आयोजित नागदेवता का जागड़ा ग्राम देवन व घंसी में धूमघाम मनाया गया। दोपहर में बाद्य यंत्रों के साथ का देव डोली मंदिर से बाहर दर्शन की आते ही दर्जन देवता के पश्वा अवतारित हुए। और दूर दराज से आए लोगों ने दर्शन कर मन्नतें मांगी।
साथ देव डोली को श्रद्घा व आस्था के साथ श्रद्वालुओं ने बारी बारी से नचाया। और जौनपुर की पौराणीक लोक संस्कृती की धरोवर तांदी,रासों व हारूल के साथ लोग जमकर झूमें।
दोपहर बाद देव डोली ग्राम घंसी में दर्शन को पहुची,जहां ग्रामीणों ने सुख समृद्धी के साथ अच्छी फसल होने की कामना की। रात्री की डोली वापस मूल स्थान देवन आई।
रात्री को आयोजित जागरण संघ्या में बतौर मुख्य अतिथि राजपुर क्षेत्र के विधायक खजान दास ने कार्यक्रम का शु भारंभ किया। जिसमें कई कलाकारों द्वारा भंजन ,जौनपुरी,
जौनसरी,गढवाली में गीतो की सुन्दर परस्तुती से ग्रामीणों को रातभर लोक संस्कृती का जमकर झूमें।
इस मौके पर शांती सिंह मालियाल,बचन सिंह मालियाल,
मुन्ना पंवार, जगमोहन सिंह,चमन सिंह,अनूप थपलियाल,प्रवीन कवि,बलवीर सिंह,अनिल कैन्तुरा आदि भौजूद रहे।