नगर पंचायत अध्यक्ष पोखरी की जल्द बड़ सकती है परेसानियां!

 पोखरी (चमोली) :नगर पंचायत पोखरी के अध्यक्ष लक्ष्मी प्रसाद पंत की मुस्किले कम होने का नाम नहीं ले रही है। नगर पंचायत के कार्यकाल लगभग एक साल पूरा होने पर भी उन पर लगा आरोप लगातार अभी भी बना हुआ है। अपील कर्ता जगदीश प्रसाद ने लगातार संधर्ष करते हुए सरकार को हाई कोर्ट तक इस मामले को ला दिया है,और मामले को लेकर लगातार संधर्ष कर रहे है।
 नगर पंचायत पोखरी में चुनाव के दौरान चुनाव आयोग को गलत सपथ पत्र देने के आरोप में विपक्षी उम्मीदवार जगदीश प्रसाद ने वर्तमान नगर पंचायत पोखरी लक्ष्मी प्रसाद पंत की रिपोर्ट चुनाव आयोग को दी थी जिला अधिकारी चमोली के द्वारा जांच कर यह मामला शासन को भेजा गया। लेकिन सरकार ने आरोपी पर कोई कार्यवाही नहीं की उसके बाद मामला जब माननीय उच्च न्यायालय में ले जाया गया तो सरकार को इस पर कार्यवाही करने के आदेश दिये गये।लेकिन यहां भी शासन ने फाइल को दबाकर रखा।अब हाईकार्ट के आदेशों पर सचिवालय ने कार्यवाही के आदेश तो दिये है लेकिन अभी तक दोषी के प्रति कोई शासनात्मक कार्यवाही नहीं हुई है।

जहां एक ओर कांग्रेस इस प्रकरण पर सत्ताधारी पार्टी पर जान बूझकर देर करने और बात टलाने की बात कर रही है वहीं दूसरी ओर भाजपा का कहना है कि कही भी अगर अनियमिता शासन स्तर पर होती है। तो उस पर हर हालत में कार्यवाही होगी।

शासन में इस प्रकरण की फाईल काफी समय से घूमती जा रही है,लेकिन जांच पर जांच और बातों को बरगलाने के अलावा अभी तक कुछ नहीं हो पाया है। कांग्रेस प्रवक्ता आर पी रतूड़ी का कहना सरकार सत्ता का जमकर दुप्रयोग कर रही है जहां उनको अपनी सुविधा दिखती है वहां तत्काल निर्णय ले लेती है और जहां उनको लगता है कि हमारे निर्णय से हमको नुकसान है वहां वह फाईलों को लटकाने का काम करते है।

सचिवालय में दो सचिवों के बीच फंसी यह फाईल फंसी हुई है। शासन की गलती से यह मामला अभी तक लटका हुआ है। वहीं आरोपी नगर पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी प्रसाद पंत इस मामले से भागते फिर रहे हैं।मीडिया जब भी इन से मिलने की बात करते है। ये महाशय कोई न कोई बहाना मारकर मीडिया से दूरी बना लेते है। बहरहाल मामला अभी कोर्ट में है। इस पर कब फैसला आयेगा यह कहना अभी मुस्किल है।लेकिन इतना जरूर है कि देर से ही लेकिन लक्ष्मी प्रसाद पंत पर गाज गिरना अब तय माना जा रहा है।
…………………