नगर निगम के कूड़ा डंम्पिंग जोन ने किया शहरवासियों का जीना दूभर!

-हरिद्वार बाईपास रोड़ पर बने कूड़ा डंम्पिंग जोन से क्षेत्रवासी भारी परेसानी में

देहारादूनःहरिद्वार बाईपास स्थित राधास्वामी सत्संग व्यास के पास पैट्रोल पम्प से सटे कूडा ग्राउड से क्षेत्रवासियों एवं राहगीरों को रोजाना यहां से गुजरते वक्त भारी दुगंध व जाम का सामना करना पड रहा है। कई बार शिकायत के बावजूद भी नगर निगम यहां से कूडा डंम्पिग जोन हटने के लिए राजी नहीं हो रहा है।


गौरतलब है कि शहर भर के कूडे का अस्थाई स्टोर नगर निगम द्वारा हरिद्वार बाईपास पर बनाया गया है।जो पिछले कई सालों से यहां पर संचालित किया जा रहा है। आईएसबीटी से हरिद्वार ऋषिकेस, व पर्वतीय जिलों के लिए जाने वाला मुख्य मार्ग मुख्य मार्ग होने की बजह से आये दिन राहगीह व वाहन चालकों को इस स्थान पर दुगंध व जाम से बिकट परेसानियों होती है।

कचरा ग्राउड से सटे पैट्रोल पम्प में काम करने वाले कर्मचारियों का कहना है कि इस स्थान पर पूरे शहर का कूडा डाला जाता है, जो कई दिनों तक यही पडा रहता है,हम यहां दिनभर इस दुगंध को मजबूरन झेलते है। मुख्य सड़क पर बडे वाहनों के कारण जाम लग जाता है,नगर निगम के सफाई कर्मचारी पैट्रोल पम्प मे पास आकर धुम्रपान करते है जिससे की दुर्धटना का डर लगा रहता है। पैट्रोल पम्प संचालिका का कहना है,दुगंध के कारण कोई भी कर्मचारी यहां पर काम करने के लिए तैयार नहीं हो रहा है, क्योंकि यहां पर रहकर उसे बीमार पड़ने का डर बना रहता है। नगर निगम में कई बार शिकायत किये जाने के बाद भी कई कार्यवाही नही हो रही है,इस दुगंध कारण हमें सांस लेना भी मुस्किल हो गया है।

वहीं मेयर सुनील उनियाल गामा का कहना है कि हम शहर भर का कूड़ा का सीधे शीशमबाड़ा नहीं ले जा सकते है,इसलिए यहां पर डम्पिंग जोन बनाया गया है,जब कभी जगह अन्य स्थान पर खाली जगह मिलेगी तो वहां इसे स्थानांतरित किया जायेगा।

माजरा पार्षद आफताब आलम का कहना है कि निश्चित रूप से क्षेत्रवासियों को इस डंपिंग जोन से काफी परेसानी हो रही है,यह बात हमने मेयर साहब के संज्ञान में भी डाली है।डंम्पिंग जोन शहर के बाहर होना चाहिए।मेरी कोशिस रहेगीं जल्द इस परेसानी से लोगों को छुटकारा मिल सकें।

78 टर्नर रोड़ पार्षद रमेश मंगू का कहना है कि यह स्थान काफी भीड़ भाड़ वाला स्थान है यहां जाम के कारण आये दिन दुर्धटना का खतरा बना रहता है साथ ही यहां पर धार्मिक स्थल,स्कूल व ऑफिस है,जिन पर हर समय बीमारी का खतरा मंडराता रहता है। इसे शीध्र यहां से हटना चाहिए।

कचरा ग्राउंड के पास स्कूल व ऑफिस होने के कारण स्कूली बच्चों व कर्मचारियों के स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पढ रहा है। वही नगर निगम फिलहाल यहां से डम्पिंग जोन हटाने के मूड मे नहीं लग रहा है। नगर निगम की इस उदसीनता से क्षेत्रीय लोग काफी परेसान है,लेकिन इसका संज्ञान नगर निगम व शासन प्रशासन भी लेता है या नही।

-भानु प्रकाश नेगी,देहरादून