दून मैं हर पांचवां बच्चा है इस खतरनाक बीमारी का शिकार .

 हम सभी जानते है कि बाज़ारो मे आसानी से उपलब्ध जंक फ़ूड हमारे शरीर के लिए कितना हानिकारक है, लेकिन अस्फोस कि सब जानते हुए भी आज हम खुद को और अपने बच्चों को दूर नहीं कर पा रहे है और इसी कारण हर दूसरा बच्चा आज मोटापे का शिकार हो रहा। बच्चों मे जंक फ़ूड के बढ़ते चलन पर उत्तराखंड एसोसिएशन (उमा )की ओर से राजधानी देहरादून मे किए गए एक विशेष सर्वे मे चौकाने वाले तथ्य सामने आए है जिसमे सबसे अहम् तथ्य यह है कि राजधानी देहरादून का हर 5 वा बच्चा मोटापे का शिकार है ,इसके अल्वा सर्वे मे यह भीं सामने आया है कि जंक फ़ूड का आज बच्चे हर दिन सेवन कर रहे है उनमें कितनी अधिक हानिकारक केमिकलस मौजूद होते है। उत्तराखंड एसोसिएशन की संस्थपक साधना शर्मा ने इससर्वे रिपोर्ट पर जानकारी देते हुए बताया कि यह सर्वे देहरादून के सरकारी और निजी स्कूलों मे पढ़ने वाले 2000 बच्चो पर किया गया था जिसमे हर पांचवा बच्चा मोटापे का शिकार था वही उन्होंने बताया कि जंक फ़ूड मे विशेषकर पिज़्ज़ा एक ऐसा जंक फ़ूड है जिसमे 13 तरह के अलग अलग केमिकल मिलाएं जाते है जिसकी वजह से एक व्यक्ति को बार बार पिज़्ज़ा खाने का मन होता है।

वही बच्चों मे जंक फ़ूड के बढ़ते चलन को लेकर जब हमने देहरादून की जानी -मानी डाइटीशियन डॉ रेणु जैन की माने तो बच्चो मे बढ़ते मोटापे का एक बड़ा कारण सिर्फ जंक फ़ूड मोटापा अपने साथ कई बीमारियाँ लेकर आता है यही कारण है कि आज छोटे बच्चो मे भी डायबिटीज ,ब्लड प्रेशर और लीवर से सम्बंधित दिक्कतें पायी जाती है। आज शहर के हर एक कोने पर जंक फ़ूड की दुकाने लगी हुई है जहाँ पर बच्चे बड़े चाऊ से खाते हुए दिखयी देते है लेकिन शयद उन्हें यह मालूम नहीं है की इससे कई सारी बीमारियों को वे न्योता दे रहे है।