महंत इन्द्रेश अस्पताल में बच्चे की मौत पर परिजनों का धरना, अस्पताल ने दर्ज की एफआईआर।

देहरादूनः मंहत इन्द्रेश अस्पताल शहर के प्रमुख अस्पतालों में से एक है यहां आये दिन हजारों मरीजों का इलाज किया जाता है। लेकिन कई बार मरीजों के तीमारदार को यह शिकायत रहती है कि उनके मरीज का उचित इलाज न होने से या डॉक्टरों की लापरवाही से मरीज की मौत हो जाती है। ताजा घटनाक्रम में एक महिला ने जब तीसरे सिजेरियन बच्चे का जन्म दिया तो बच्चे की दो दिन बाद मौत हो गई। जिससे परिजन नाराज हो गये और उत्तराखंड संबैधानिक अधिकार सरक्षण मंच के साथ अस्पताल के गेट पर अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ गयें। जहां उन्होंने जमकर बबाल काटा पुलिस ने उन्हें काफी संमझाया लेकिन वह नहीं मानें और वाल रोग विभाग के डॉ पियुष को जेल भेजने पर अड गये ।

अस्पताल के कार्य को बाधित करने पर मंहत इन्द्रेश अस्पताल में धरना करने वालों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआई आर दर्ज कर दी है। वही अस्पताल चिकित्सा अधिक्षक डॉ विनय राय का कहना है कि हमने एक माह पूर्व ही परिजनों को यह बता दिया था कि यह केस काफी खतरनाक है। बच्चे की जान को खतरा हो सकता है। पब्लिक का एटिटूयूट बहुत खराब है।

-भानु प्रकाश नेगी,देहरादून।