लायन्स क्लब ऋषिकेश रॉयल ने किया 40 गरीब स्कूली बच्चो को गरम कपड़े व मिठाईयां वितरित।

निशुल्क शिक्षण संस्थान उड़ान स्कूल मायाकुंड में  दीपावली पर्व के उपलक्ष्य में लायन्स क्लब ऋषिकेश रॉयल द्वारा 40 स्कूली बच्चो को सर्दी से बचाव हेतु गरम कपड़े स्वेटर,टोपी, जुराब के साथ ही मिठाईयां वितरित की गई।इस मौके पर स्कूल के निदेशक डॉ राजे नेगी ने स्कूली बच्चो को जानकारी देते हुवे बताया कि दीपावली या दीवाली अर्थात “रोशनी का त्योहार” शरद ऋतु में हर वर्ष मनाया जाने वाला एक प्राचीन हिंदू त्योहार है। दीवाली भारत के सबसे बड़े और प्रतिभाशाली त्योहारों में से एक है। यह त्योहार आध्यात्मिक रूप से अंधकार पर प्रकाश की विजय को दर्शाता है।यह पर्व सामूहिक व व्यक्तिगत दोनों तरह से मनाए जाने वाला ऐसा विशिष्ट पर्व है जो धार्मिक, सांस्कृतिक व सामाजिक विशिष्टता रखता है। हर प्रांत या क्षेत्र में दीवाली मनाने के कारण एवं तरीके अलग हैं उत्तराखंड में छोटी दिवाली को बग्वाल पर्व एवं दीपावली के ग्यारह दिन बाद इसे इगास पर्व के रूप में मनाया जाता है। लोगों में दीवाली की बहुत उमंग होती है। लोग अपने घरों का कोना-कोना साफ़ करते हैं,नये कपड़े पहनते हैं। मिठाइयों के उपहार एक दूसरे को बाँटते हैं, एक दूसरे से मिलते हैं। घर-घर में सुन्दर रंगोली बनायी जाती है, दिये जलाए जाते हैं और आतिशबाजी की जाती है। बड़े छोटे सभी इस त्योहार में भाग लेते हैं। अंधकार पर प्रकाश की विजय का यह पर्व समाज में उल्लास, भाई-चारे व प्रेम का संदेश फैलाता है।इसे दीपोत्सव भी कहते हैं। ‘तमसो मा ज्योतिर्गमय’ अर्थात् ‘अंधेरे से ज्योति अर्थात प्रकाश की ओर जाइए’ यह उपनिषदों की आज्ञा है। इसे सिख, बौद्ध तथा जैन धर्म के लोग भी मनाते हैं। जैन धर्म के लोग इसे महावीर के मोक्ष दिवस के रूप में मनाते हैं। तथा सिख समुदाय इसे बन्दी छोड़ दिवस के रूप में मनाता है।

माना जाता है कि दीपावली के दिन अयोध्या के राजा राम अपने चौदह वर्ष के वनवास के पश्चात लौटे थे।अयोध्यावासियों का ह्रदय अपने परम प्रिय राजा के आगमन से प्रफुल्लित हो उठा था। श्री राम के स्वागत में अयोध्यावासियों ने घी के दीपक जलाए। कार्तिक मास की सघन काली अमावस्या की वह रात्रि दीयों की रोशनी से जगमगा उठी। तब से आज तक भारतीय प्रति वर्ष विश्वभर में यह प्रकाश-पर्व हर्ष व उल्लास से मनाते हैं। इस अवसर पर लायन्स क्लब रॉयल के अध्यक्ष लायन अतुल जैन,अभिनव गोयल, पुनीत गुप्ता,डॉ गगन शर्मा,पुनीत गर्ग,उत्तम असवाल,आशुतोष कुड़ीयाल,मीनाक्षी राणा,प्रिया क्षेत्री,दीपिका पंत,मंजू देवी उपस्थित थे।