ऋषिकेश के कुश्ती पहलवान लभांशू शर्मा ने जीता स्वर्ण पदक

  •  ऋषिकेश के कुश्ती पहलवान लभांशू शर्मा ने जीता स्वर्ण पद।

पंजाब के लवली प्रोफेसनल युनिवर्सिटी फगवाड़ा जालंधर में 12 जुलाई से 14 जुलाई 2018 के बीच आयोजित 5 वीं नेशनल स्टूडेंट ओलंपिक गेम्स 2018 के कुश्ती प्रतियोगिता में तीर्थ नगरी के युवा पहलवान लाभांश शर्मा ने 125 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल मुकाबले में आंध्र प्रदेश के केएल श्रीराम को 9-3 से पराजित कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

स्टूडेंट ओलंपिक गेम्स के कुश्ती प्रतियोगिता के पहले मुकाबले में लाभांशु ने कर्नाटक के पहलवान को हराया उसके बाद दूसरे मुकाबले में राजस्थान तीसरे एवं सेमीफाइनल मुकाबले में पंजाब के पहलवान को हराकर फाइनल में अपनी जगह बनाई।

लाभांशु ने बताया कि कुश्ती प्रतियोगिता में पहला दूसरा एवं तीसरा स्थान पाने वाले पहलवानों को नवम्बर में बैंगकॉक में आयोजित होने जा रही इंटरनेशनल कुश्ती प्रतियोगिता के लिए चयनित किया गया है।

लाभांशु को जीत की बधाई देते हुवे गढ़वाल महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजे नेगी ने कहा कि एक बार फिर से स्वर्ण पदक जीत लाभांश ने ऋषिकेश एवं प्रदेश का नाम रोशन कर दिया है।नेशनल लेवल पर लाभांश द्वारा जीता गया यह 8 वां स्वर्ण पदक है इससे पहले राज्य स्तर पर 15 स्वर्ण पदक एवं इंटरनेशनल लेवल पर 2 स्वर्ण पदक के साथ ही जर्जिया में 10 टन भार का ट्रक खीच यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लाभांश ने प्रदेश का गौरव बढ़ाया है। समाज सेवी डॉ नेगी ने राज्य के मुखिया से पहलवान लाभांशु शर्मा को खेल के क्षेत्र में प्रदेश का ब्रांड एम्बेसडर बनाए जाने की मांग की। युवा पहलवान लाभांशु ने कहा कि अगर राज्य सरकार उनको कुश्ती के लिए मेट दे दे तो वह ऋषिकेश के युवाओं को कुश्ती का प्रशिक्षण देकर प्रतियोगिता के लिए तेयार कर सकते है साथ ही इसके द्वारा युवाओं को नशे से दूर कर खेल के क्षेत्र में उनके रुचि बड़ाई जा सकेगी। इस मौके पर लाभांश के पिता सुरेश पहलवान,जय कुमार तिवारी उत्तम असवाल,कमल सिंह राणा ने उनको जीत पर हर्ष व्यक्त किया।