कुमाऊंनी भाषा की पुस्तकों‘‘धगुलि, हंसुलि, छुबकि एवं झुमकि’’ का विमोचन

मुख्यमंत्री द्वारा कुमाऊंनी भाषा की चार पुस्तकों ‘‘धगुलि, हंसुलि, छुबकि एवं झुमकि’’ का  विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने चिन्ता व्यक्त करते हुये कहा कि दुनिया में एक घन्टे मे एक बोली समाप्त हो रही है इसलिए हमे अपनी बोलियों व भाषा को जीवित रखने के लिए आगे आकर कार्य करने होंगे, तभी हमारी बोलियां, भाषा संरक्षित व विकसित होगी यह हमारा दायित्व भी है। इससे पूर्व मुख्यमंत्री अकादमी एवं केएमवीएम वेबसाइट का माउस दबाकर उदघाटन किया।