कौशल विकास मंत्री डाॅ. हरक सिंह रावत ने किया अप्रेंटिसशिप पखवाड़ा 2019 का शुभांरभ

 

नई दिल्ली स्थित प्रवासी भारतीय केंद्र में कौशल विकास मंत्रालय द्वारा आयोजित राज्यों के माननीय मंत्रियों का सम्मेलन एवं अप्रेंटिसशिप पखवाड़ा 2019 का शुभांरभ कार्यक्रम मे कौशल विकास मंत्री डा हरक सिंह रावत  द्वारा प्रतिभाग किया।

नव भारत के निर्माण में माननीय प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी के ‘‘कौशल भारत कुशल भारत‘‘ की विकास की इस सोच को आगे बढाते हुए उत्तराखण्ड अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को निभा रहा है।

केन्द्रीय सरकार की भांति उत्तराखण्ड सरकार द्वारा कौशल विकास विभाग को श्रम विभाग से पृथक करते हुए एक नये कौशल विकास एवं सेवायोजन विभाग का सृजित किया गया। इसका सबसे बडा फायदा यह रहा कि जो अधिकारी एवं कर्मचारी सेवायोजन विभाग का दायित्व देख रहे थे अब वह सेवसायोजन के साथ-साथ कौशल विकास विभाग के सम्नवयक अधिकारी के रूप में भी देखगें।

कौशल विकास विभाग को विस्तृत रूप देने के उद्देश्य से पर्यटन, फिल्म इंडस्ट्री तथा एडवेंचर के क्षेत्र में कौशल विकास के माध्यम से इनसे जुडे नये व्यवसाय चलाये जा रहें। राज्य के संसाधनों को ही कौशल विकास के रूप में प्रयोग किया जा रहा है, जिससे रोजगार के साथ पलायन को भी कम किये जाने पर प्रदेश सराकर विशेष जोर दे रही है। युवाओं को पर्यटन, एडवेंचर तथा फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें प्रदेश की आर्थिकी के साथ साथ उनके स्वयंरोजगार को भी बढावा दिया जा रहा है। पैराग्लाइडिंग, रिवर राफ्टिंग तथा अन्य एडवेंचर कार्यक्रम को कौशल विकास के माध्यम से विकसित किये जाने पर उत्तराखण्ड सरकार कार्य रही है। हमारे राष्ट्रीय पार्क, फूलों की घाटी तथा अन्य वन्य जीव अभ्यारणों को पर्यटन के क्षेत्र में बढावा दिये जाने हेतु उत्तराखण्ड सरकार युद्व स्तर पर प्रयास कर रही है।

फिल्म इंड्रस्ट्री से जुडे व्यवसायों को उत्तराखण्ड सरकार उत्तरोत्तर गति से आगे बढाने का कार्य कर रही है, जिससे फिल्म उद्योग को उत्तराखंड में बढ़ावा मिल सके। साथ ही होटल इंडस्ट्री को बढावा दिये जाने हेतु सिंगल विडों सिस्टम को लागू किया गया है।
उत्तराखण्ड का योगदान सदैव देश के लिए अभूतपूर्व रहा है और रहेगा।