कोरोनेसन अस्पताल को ‘कायाकल्प’ का दूसरा  पुरस्कार

-M R के दो बजे से पहले मिलने पर सक्तक्ताई।
-पुरस्कार में मिले अस्पताल को 10 लाख रूप्ये का चेक।

केन्द्र सरकार द्वारा अत्कृष्ठ सेवा के लिए अस्पतालों को दिये जाने वाला ‘कायाकल्प’ का द्विवतीय पुरस्कार में कोरोनेसन अस्पताल को दिया गया। अस्पताल के मुख्य चिकित्साअधिकारी डाॅ. एल सी पुनेठा ने यह जानकारी देते हुये बताया कि इस पुरस्कार के लिए अस्पताल को 10 लाख रूप्ये की राशि, प्रसस्ती पत्र और एक ट्राॅफी दी गई।


गौरतलब है कि पिछले साल कोरोनेसन अस्पताल को कायाकल्प का प्रथम पुरस्कार दिया गया था। डाॅ पुनेठा के सीएमएस बनने के बाद अस्पताल को मिलने वाला यह दूसरा पुरस्कार है। पिछले कई सालों से रेफर सेन्टर बन चुके कोरोनेसन अस्पताल में जब से डाॅ पुनेठा ने कार्यभार संभाला है तब से अस्पताल की वास्तव में कायाकल्प हुई है। मरीजों की संख्या में लगातार हो रहे इजाफे से साफ पता चलता है कि अस्पताल में बहुत गंम्भीर रोगों के अलावा सभी प्रकार के डाॅक्टर,नर्से,कर्मचारी उपल्ब्ध है। साथ ही ई रजिस्ट्रेसन होने से आने वाले समय में मरीजों बिना लाईन में खडे हुये आराम से इलाज करने को मिलेगा। एमआरों के दो बजे से पहले डाॅक्टरों से मिलने सक्ताई की गई और अगर कोई एमआर दो बजे से पहले डाॅक्टरों से मिला तो उस पर दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।