जैविक कूड़े के सही प्रबंधन के लिए कस्तूरी संस्था ने लिया संकल्प

भारतीय वन सेवा के अधिकारियों की पत्नियां तथा महिला अधिकारियों के संगठन कस्तूरी द्वारा राजपुर रोड स्थित वन परिसर में वन विभाग के कर्मचारियों के परिवारों के साथ संवाद स्थापित करने हेतु मंथन सभागार में बैठक आयोजित की गई । सभी महिलाओं ने इस प्रयास का स्वागत किया तथा अपनी समस्याओं को कस्तूरी के सदस्यों के सामने रखा । कस्तूरी की अध्यक्ष  शर्मिला भरतरी के द्वारा सभी महिलाओं को आश्वस्त किया गया कि हम सब इस वन परिवार का हिस्सा है और हम उनकी सभी समस्याओं का निराकरण करने के लिए अपनी हर संभव कोशिश करेंगे । इसके साथ साथ उन्होंने यह भी कहा यह कभी भी आवश्यकता पड़ने पर उनसे संपर्क कर सकती हैं। कस्तूरी द्वारा हिल्लदारी संस्था को इस कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था। इस संस्था के संस्थापक श्अरविंद शुक्ला द्वारा जैविक कूड़े के सही प्रबंधन की विस्तार में जानकारी दी गई। सभी वन परिसर की महिलाओं ने जैविक कूड़े के सुनियोजित निस्तारण की जानकारी प्राप्त करने में न केवल उत्साह दिखाया बल्कि यह भी निर्णय लिया की कि वे सब बायो कंपोस्टिंग करेंगी तथा निर्मित खाद को वे अपने घर में इस्तेमाल करेंगी। कस्तूरी जल्द ही एक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन भी वन परिसर में करवाएगी इसके साथ साथ सभी महिलाओं द्वारा आजीविका संवर्धन गतिविधियों से संबंधित परीक्षण आयोजित करवाने का भी अनुरोध किया गया। श्रीमती भरतरी द्वारा बताया गया कि जल्दी ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन तिलक रोड एवं इंदिरानगर वन परिसर की महिलाओं एवं बच्चों के साथ भी किया जाएगा। इस कार्यक्रम में कस्तूरी संस्था के अन्य सदस्य श्रीमती सुनीता सुहाग, नीना ग्रेवाल, अंजलि सिन्हा, शिवानी पटनायक, नेहा वर्मा, कहकशा नसीम, अलका गुप्ता, स्निग्धा पात्रो, शिमना मनोज, नीलिमा शाह तथा गीता सिंह भी उपस्थित रहे।