जौनसार: यहां टमाटर की फसल को मंडी तक पहुंचाने के लिए अपनी जान को खतरे में डाल रहे हैं लोग

 

जनजातीय क्षेत्र जौनसार बावर में भी विकास से आज भी कोसों दूर है। यहाँ के हालात भी राम भरोसे हैं यहाँ आये दिन बरसात किसी ना किसी इलाके की भयावह तस्वीर सामने आती है। कालसी के बढ़नू गाँव जहाँ शिलिखत पंजगांव थैंना मंदिर को जाने वाला कई किलोमीटर पैदल मार्ग सालों से बदहाल है इस मार्ग बना पुल 2013 कि आपदा से क्षतिग्रस्त है जिसका आजतक किसी ने संज्ञान नहीं लिया लिहाजा बरसात में हालात बेहद खराब हैं।

 मूसलाधार बारिश के बाद गदेरे में पानी ने  कोहराम मचाया हुआ है बावजूद इसके ग्रामीण बांस के सहारे इस गदेरे को पार कर रहे हैं ।एक खतरनाक बांस का जुगाड़ पुल यहाँ ग्रामीण बना रहे हैं जहाँ जरा सी चूक से जान जा सकती है। दरअसल ये लोग गाँव के किसान हैं जिन्हें सही समय पर टमाटर की फसल मंडी तक पहुँचानी है जिसके चलते मजबूरी में वो कुछ इस तरह से जान की बाजी लगाकर अपनी फसल मंडी पहुँचा रहे हैं। क्या पुरूष क्या महिलाएं और बच्चे सभी को इस तरह से बरसात में बांस के जुगाड़ पुल के सहारे गदेरे को पार कर आवाजाही करते हैं।