इन्वेस्टर्स समिट को लेकर दून के निवेशकों में भी भारी उत्साह।अकेले दून मे 1 हजार करोड़ रूपये के निवेश की संभावना।

 

-इन्वेस्टर्स समिट सात और आठ अक्टूबर को।
– अकेले दून से एक हजार करोड़ के निवेश की संभावना।


दून के निवेशकों में अकेले सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत  की छवि बहुत अच्छी है। उनके औद्योगिक सलाहकार डा. के.एस पंवार के प्रयासों की भी दून के उद्यमी खूब सराहना कर रहे हैं। सेलाकुई और देहरादून से ही एक हजार करोड़ रुपये के एमओयू साइन होने की संभावना है। इस बीच सरकार ने इंडस्ट्रियल एरिया की कमान पीसीएस अधिकारियों को सौंप दी है। सेलाकुई की कमान पीसीएस अधिकारी शिवानी नेगी को सौंपी गई है। उद्यमियों का कहना है कि सीएम त्रिवेंद्र रावत का कैंप व आॅफिस भ्रष्टाचार मुक्त है, लेकिन सिंगल विंडो की समस्या का समाधान करना होगा। मेरे सामने ही कुछ उद्यमियों ने 200 करोड़ के एमओयू तैयार किये, जबकि अभी बहुत से उद्यमी सरकार की इस नीति की सराहना कर रहे हैं। हालांकि इन उद्यमियों का कहना है कि जो उद्योग पहले से ही सेलाकुई में हैं और उनके विस्तार की योजना है तो उन उद्योगों को प्राथमिकता के आधार पर मौजूदा इंडस्ट्रीज के आसपास ही जमीन उपलब्ध करा दी जाए।


 कुछ उद्यमियों के अनुसार श्राद्ध पक्ष में इनवेस्टर समिट हो रही है। इसका प्रभाव प्रतिकूल न हो। लेकिन सभी अपने पंडितों से मंथन कर रहे हैं। कुछ उद्यमियों के अनुसार श्राद्ध पक्ष होने से पित्रों का आशीर्वाद भी मिलेगा। सरकार के पास कालसी, सितारगंज और रुद्रपुर में ही निवेशकों के लिए जमीन है। कुल मिलाकर इनवेस्टर समिट सफल रहेगा , यह तय है।