होली में अपनी त्वचा को कैसे बचायें .खतरनाक रंगों से? जाने इस खास खबर में.

त्वचा शरीर का सबसे अभिन्न हिस्सा है। सुबह होली खेलने से पहले हमें पता नहीं होता है कि हमारी त्वचा पर जो रंग लगेंगे, वे छूटेंगे या नहीं। इसलिए अच्छा होगा कि रंग खेलने से पहले आप अच्छे से तैयारी कर लें। त्वचा पर बॉडी लोशन या सनस्कीन क्रीम या लोशन लगाएं। इसके अलावा आप फाउंडेसन बेस की लेयर भी लगा सकती है। कभी-कभी लोग फिक्सर स्प्रे लगाते हैं। यह त्वचा पर परत बना लेता है। इससे रंग खेलने पर भी त्वचा को नुकसान नहीं पहुँचता है।

      किचन में  मौजूद बेसन एक अद्भुत क्लेंजर है। कच्चे दूध के साथ बेसन घोलकर इससे होली के रंग छुड़ा सकती इससे त्वचा का ग्लो भी बना रहेगा।

अपर ड्रेस पूरी बाजू वाली हो। इसके साथ ही पूरी लंबाई की जींस, पेंट या सलवार पहनें ताकि त्वचा अच्छी तरह से ढकी रहे। कोशिश करें कि शरीर के ज्यादा हिस्से कवर ही रहें। इससे त्वचा में रंग कम पहुँचेगा।

होली खेलने के बाद जब रंग छुड़ा रही हों तो इस बात का विशेष ध्यान रखें कि त्वचा को डायरेक्ट न रगड़े। अच्छा होगा कि पहले त्वचा पर बेबी लोशन लगाएं। इसे त्वचा पर लगाकर हल्के हाथों रगड़े। इसके बाद फेसवॉश लगाएं। आप दही या बेसन भी लगा सकती है। नहाने के बाद त्वचा पर अच्छी तरह मॉइश्चराइजर लगाएं ताकि त्वचा मुलायम बनी रहे।

अगर रंगो के केमिकल के बालों को नुकसान पहुंचता है तो हुए केले को मैश करके बालों पर लगाएं और आधे से एक घंटे के बीच में धो लें। पका हुआ केला बालों को तुरंत पोषित कर उन्हें स्वस्थ बनाता है।इससे बालों को काफी फायदा मिलेगा।

होली खेलने से पहले बालों में रीबॉन्डिग या रसायनों या कलरिंग का इस्तेमाल न करें। कम से कम एक सप्ताह तक इन रसायनों के प्रयोग से बचें। क्योंकि इससे बालों की क्यूटिकल्स खुल जाती हैं।होली के रंगों में मौजूद रसायन सिर की त्वचा को भी नुकसान पहुँचा सकते हैं। अगर आपको अपने बालों में किसी प्रकार का कोई