पर्वतों मां हो हो “होरी ऐगें”

पर्वतों मां हो हो “होरी ऐगें”
नेगी दा ने दिया प्रदेश वासियों होली का खास तोहफा
-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किया होरी ऐगे विडियों का लोकार्पण।

कालजयी रचनाकार व सुर सम्राट नरेन्द्र सिंह नेगी का लोकप्रिय गीत ‘होरी ऐगे’ का लोकार्पण मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कैंट रोड़ स्थित सीएम आवास में किया।
विश्व पटल पर अंकित (गोपेश्वर) गोपीनाथ मदिर में फिल्माया गया यह चित्रगीत बहुत सुन्दर ढंग से चित्रित किया गया है। गीत के मुख्य कलाकार गढ रत्न नरेन्द्र सिंह नेगी के सुपुत्र कविलास नेगी ने बहुत सुन्दर अभिनय इस गीत में किया है। गौरतलब है ।नेगी दा  द्वारा स्वरचित गीत ” पहाड़ी पहाड़ी मत बोलो जी देहरादून वाला हूं” गीत मे कविलास नेगी अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके है।
पहाड के जनमानस की रग- रग मे लहू सा बहने वाले नेगी दा के और संगीत की गहरी छाप युगों युगों तक रहेगी इस बात में कोई दो राय नहीं है।


नेगी दा का यह विडियों गीत इस लिये भी खास है कि उनको कुछ समय पहले नया जीवनदान मिला है।पहाड़ की रग- रग से वाकिव लोकगायक नरेन्द्र सिंह नेगी आपने उत्तराखंड़ से कितना प्रेम करते है इस बात का अंदाजा लगाना सहज है।  इतनी गंम्भीर बीमारी के बावजूद उनका पहाड़ प्रेम उन्हें स्टेज सो और चित्र गीतों के लिये सहज रंगमंच तक खीच लाता है।

मेरी एक खास मुलाकात मै नेगी दा ने कहा कि मै “अपने पहाड़ की लोकभाषा,सांस्कृतिक विरासतों व लोक संगीत के लिये आखिर दम तक काम करता रहूंगा”
आखिर ऐसा कोई दूसरा कौन कलाकार है जो अपनी लोक विरासतों के लिए समर्पित है?

अगर आप सच मे अपनी लोक विरासतों व त्यौहारों को नई पीड़ी के लिए जिन्दा रखना चाहते है तो नेगी दा के हर गीत व चित्रगीत को शेयर करें।ताकि हमारी लोक विरासतें जिन्दा रह सकें।

 -भानु प्रकाश नेगी, देहरादून।