पौड़ी के सन्तूधार और पौखरा के स्कूल में सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीनों का शुभारंभ -हंस फाउंडेशन

‘मातृ छाया’ योजना के तहत हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल सतपुली के तत्वावधान में पौड़ी के सन्तूधार और पौखरा के स्कूल में सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीनों का शुभारंभ
________________________

देश भर में सेवा पथ पर चलते हुए गरीब एवं जरूरतमंद लोगों के जीवन परिवेश को बेहतर बनाने एवं इनके बेहतर स्वास्थ्य-शिक्षा के लिए कार्य कर रहे समाज सेवी माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी की प्रेरणा से द हंस फाउंडेशन एवं हंस जरनल अस्पताल सतपुली के तत्वावधान में ‘मातृ छाया’ योजना के तहत पौड़ी गढ़वाल के सन्तूधार स्थिति राजीव गांधी नवोदय विद्यालय एवं सुनैना रावत नवदीप चिल्ड्रन अकादमी पोखरा की छात्राओं के लिए सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीनों का शुभारंभ किया गया।


हंस कल्चर सेंटर दिल्ली के जरनल मैनेजर श्री धर्मा राव ने बताया कि भारत में स्वच्छता अभियान के नवनिर्माण की दिशा में सहयोग करते हुए माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी की स्वस्थ परिकल्पना के तहत पिछले दिनों कोटद्वार में मातृ छाया योजना के तहत उत्तराखंड के स्कूलों में छात्राओं के लिए सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीनों का शुभारंभ किया गया। इसी योजना के तहत आज मातृ छाया एवं हंस जरनल अस्पताल सतपुली के तत्वावधान में पौड़ी गढ़वाल के सन्तूधार स्थिति राजीव गांधी नवोदय विद्यालय एवं सुनैना रावत नवदीप चिल्ड्रन अकादमी पोखरा की छात्राओं के लिए सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीनों का शुभारंभ किया गया।


श्री राव ने बताया कि आज देश भर जिस तरह से ज़्यादातर लड़कियां सैनिटरी नैपकिन का उपयोग नही करतीं झिझक,जागरूकता और धन की कमी के चलते आज भी देश के कई भागों में खासतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में लड़कियों में झिझक रहती है। इसके चलते लड़कियों में संक्रमण के सैकड़ों मामले रोजाना सामने आते हैं। सेहत से जुड़े इस गंभीर सवाल को हल करने के लिए माताश्री जी ने मातृ छाया योजना के तहत पिछले दिनों कोटद्वार में इस योजना की शुरुआत की थी। आज इसी के तहत पौड़ी गढ़वाल के इन स्कूलों में सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीनें लगाई गई है और यह योजना निरंतर दूसरे क्षेत्रों में भी जारी रहेगी।
श्री धर्मा राव ने बताया कि लड़कियों में सैनिटेशन और स्वास्थ्य जागरूकता बढ़ाने और उनकी झिझक मिटाने के लिए यह कोशिश की जा रही है. स्कूल, कॉलेज और अस्पतालों सहित लड़कियों और महिलाओं की पहुंच वाले क्षेत्रों में ये नैपकिन वेंडिंग मशीनें लगाई जाएंगी। ताकि देश में स्वच्छता एवं शारीरिक स्तर पर देश की बच्चियों को नयी दिशा में भविष्य निर्माण की ओर ले जा सके । यह माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी का सपना भी है।
इस मौके पर पर सन्तूधार एवं
पौखरा स्कूल के प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों ने उनकी संस्था में सैनिटरी नेपकिन बेंडिंग एवं डिस्पोजल मशीन लगाने के लिए माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी का आभार प्रकट किया।
जगमोहन ‘आज़ाद’