8 प्राथमिक विद्यालयों को मिली ‘द हंस फाउंडेशन’ की सौगत- हिमवंत प्रदेश न्युज

शिक्षा के क्षेत्र में अलख जगा रहे हैं- माता मंगला जी एवं भोलेजी महाराज- हेमंत खंडेलवाल
______________________
बैतूल के गरीब स्कूली बच्चों को माता मंगला जी एवं भोलेजी महाराज के सहयोग से स्कूल यूनिफॉर्म भेंट
===================
देश को स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में प्रगति के पथ पर लेकर जाना है तो, इसके लिए जरूरी है कि देश के नौनिहालों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ना होगा, उनके लिए ऐसी व्यवस्था करनी होगी कि वह शिक्षा के प्रति अग्रसर हों, साथ ही स्वस्थ बचपन की नींव रखनी होगी और इस दिशा में सरकार के साथ-साथ कुछ ऐसे लोग भी निरंतर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। जो समाज के हित के लिए कार्य कर रहे हैं। इन लोगों में शामिल है समाज सेवी माता मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी जो देश भर में स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में अलख जगा रहे हैं। उक्त विचार बैतूल के विधायक एवं प्रदेश भाजपा के कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल ने वन ग्राम डूडर ग्राम पंचायत, विकासखंड शाहपुर, जिला बैतूल में श्री भोलेजी महाराज एवं माताश्री मंगलाजी प्रेरणास्रोत ‘द हंस फ़ाउंडेशन’, ‘हंस कल्चर सेंटर’ एवं ‘श्री हंसलोक जनकल्याण समिति’ के तत्वावधान में आयोजित आठ प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय के गरीब छात्र-छात्राओं को स्कूल यूनिफार्म प्रदान करते हुए व्यक्त किए।

  1. श्री खंडेलवाल ने इस मौके पर कहा कि माता मंगला जी एवं भोलेजी महाराज जिस तरह से देश भर में स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। यह हमारे देश के लिए नया अध्याय हैं। आज माताजी का आशीर्वाद जिस तरह इस आदिवासी क्षेत्र के स्कूल के बच्चों को मिला है। यह निश्चित तौर इस क्षेत्र के लिए सम्मान की बात हैं। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि इस क्षेत्र के स्कूलों के बच्चे माताजी-महाराज के आशीर्वाद से अपनी शिक्षा की नींव को मजबूत कर पाएंगे। इस आशीष के लिए हम माताजी-महाराज का आभार प्रकट करते हैं।
    इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक मंगल सिंह धुर्वे ने स्कूली बच्चों को स्कूल यूनिफार्म प्रदान करने के लिए माताजी मंगला जी का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह इस क्षेत्र के बच्चों के भविष्य निर्माण में बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि क्षेत्र में कई गरीब परिवार ऐसे हैं, जो सर्दियों में स्कूल यूनिफॉर्म न होने के कारण अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज पाते हैं। ऐसे में इन बच्चों को गर्म स्कूल यूनिफार्म प्रदान कर माताजी ने इन गरीब छात्र-छात्राओं के जीवन में शिक्षा के प्रति जो अलख जगाई है, वह निश्चित तौर पर आने वाले समय में इस क्षेत्र के शिक्षा के स्तर को ही नहीं बढ़ाएगी अपितु इस आदिवासी क्षेत्र के बच्चों में शिक्षा के प्रति जागरुकता भी लाएगी। जिसका श्रेय सीधे तौर पर माता मंगला जी एवं भोलेजी महाराज को जाएगा।
    इस मौके पर विशेष तौर पर मौजूद संस्था के प्रतिनिधि राकेश सिंह ने कहा कि यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज की प्रेरणा से आज हमें इस क्षेत्र के स्कूलों के गरीब बच्चों को स्कूल यूनिफॉर्म वितरण करने का मौका मिला है।
    आज माताजी-महाराज के आशीर्वाद से लगभग पांच सौ छात्रों को स्कूल यूनिफार्म प्रदान की गई। इस पहले भी माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज इसी क्षेत्र में पढ़ने वाले गरीब छात्र-छात्राओं को आशीर्वाद दे रहे है। इसी कड़ी में इस क्षेत्र की प्रथम वर्ष की छात्रा रुपाली वर्मा भी शामिल हैं, जो माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज के आशीर्वाद से अपनी शिक्षा-दीक्षा कर रही।
    श्री सिंह ने कहा कि समाजसेवी माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी विजयग्राम गांव में हुए अग्निकांड पीड़ितों को भी सहयोग प्रदान कर चुके हैं।
    इस मौके पर संस्था के कार्यकर्ता दिनेश कंडारी एवं सुरेश वर्मा ने कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों एवं तमाम लोगों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह हम सबके लिए सौभाग्य की बात है कि हम माननीय माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी के आशीष से सामाज हित में आगे बढ़ रहे।
    माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी देश भर में स्वास्थ्य के क्षेत्र में जिस तरह से नयी सोच को स्थापित कर रहे हैं यह निश्चित तौर श्रेयकर है। उत्तराखंड के सतपुली में 150 विस्तारों का सुपरस्पेशिएलिटी अस्पताल का निर्माण एवं देश भर में दूर-दराज के क्षेत्रों में मौजूद स्कूलों के बच्चों के स्कूल आवागमन के लिए स्कूल बस भेंट करना और पर्यावरण संरक्षण, पेयजल, महिला सशक्तिकरण एवं जरूरतमंदों के लिए जिस तरह से तमाम योजनाओं पर कार्य कर रहे हैं। यह यकीनन नये भारत निर्माण के श्रेष्ठ कार्य है।
    इस मौके पर महात्मा शिवकृपानंद, संस्था के क्षेत्रीय प्रचारक जगदीश दवंडे, जाने-माने उद्योगपति रामराव खाड़े, शाहपुर के जिलाधिकारी सहित क्षेत्र के ग्रामीण, स्कूली छात्र-छात्राएं एवं कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।
    जगमोहन ‘आज़ाद’