गर्भवती महिलाओं के लिए ये खबर खास है।

गांधी नेत्र चिकित्सालय जिला अस्पताल भाग-2 में गूंजी प्रथम बच्चे की किलकारी
-अस्पताल प्रसाशन ने मनाया जश्न बांटी मिठाई।
-डॉ रमोला ने रखा बच्चे का नाम प्रथम सिंह राणा

   -भानु प्रकाश नेगी

             देहरादून

गांधी नेत्र चिकित्सालय में आखिर पहले बच्चे की किलकारी गूंज ही गई। प्रथम बच्चे के जन्म पर अस्पताल प्रशासन ने जमकर जश्न मनाया और मिठाई बांटी। अस्पताल के सीएमएस डॉ बीसी रमोला ने बताया कि यह हमारे लिए बडा खुशी का दिन है और हमने इस लक्की बच्चे का नाम प्रथम सिंह राणा रखा है।
बुद्ववार की शुबह को दिव्य विहार (देहरादून) निवासी रविन्द्र की पत्नी अमृता राणा को प्रसव पीड़ा होने हुई तो उन्हांने गांधी नेत्र चिकित्सालय जिला अस्पताल भाग 2 महिला बिंग के प्रसूता कक्ष में भर्ती कर दिया था। वृहस्पतिबार सुबह रविन्द्र की पत्नी ने एक बच्चे को जन्म दिया जिसके बाद अस्पताल में खुशी की लहर दौड पडी और बच्चे के दादा-दादी और मां पिताजी फूले नही समा रहे थे।

बच्चे के जन्म पर चम्बा टिहरी गढवाल के बादशाही थोल गांव से देहरादून पंहुचे प्रथम सिह राणा के दादा दादी (शूरवीर सिंह राणा व पूर्णिमा राणा)का कहना है कि गांधी नेत्र चिकित्सालय में प्रथम बच्चे के जन्म पर हमारे नाती के जन्म से हम बहुत खुश है यहां पर सभी अधिकारी कर्मचारी बहुत अच्छे है डॉ रमोला ने हमारा बहुत सहयोग किया है। अस्पताल में साफ-सफाई से लेकर प्रसव के लिए बहुत अनुभवी डॉक्टर मौजूद है। हम प्रदेश की सभी गर्भवती महिलाओं से आग्रह करते है कि गांधी नेत्र चिकित्सालय में ही अपना प्रसव करवायें यहां पर जच्चा-बच्चा दोनों की बहुत अच्छी देखभाल होती है।


वही सीएमएस डॉ बी.सी रमोला का कहना है बहुत दिनों से आवश्यकता महसूस की जा रही थी कि एक साफ सुथरा प्रसव कक्ष होना चाहिये जिसका लाभ गरीब से गरीब व अमीर से अमीर ले सकें। गांधी नेत्र चिकित्सालय को जब से जिला अस्पताल भाग दो घोषित किया गया तब से छोटी-छोटी बारिकीयों को देखते हुऐ हमने एक लेबर रूम तैयार किया। प्रथम बच्चे के जन्म के बाद अब तक दो और बच्चों का जन्म इस अस्पताल मे हो चुका है जो बिल्कुल स्वस्थ है। प्रसव से संबघित सर्जरी एक सप्ताह बाद शुरू कर दी जायेगी।आगे जिस तरह से हमें अभी तक सरकार का सहयोग मिल रहा है इससे हम आर्दश अस्पताल के तौर पर विकसित करना चाहते है। साथ ही मात्रि शिशु कल्याण केन्द्र के तौर पर इसे आगें बडायेगें।