गांधी नेत्र चिकित्सालय (जिला अस्पताल भाग २ ) आने वाले मरीज़ो के लिए खुसखबरी

– गांधी नेत्र चिकित्सालय में गर्भवती महिलाओं व बच्चों के लिए उपचार शुरू -डॉ रमोला

-बाल रोग विशेषज्ञ,स्कीन रोग,जनरल फिजीशियन,नेत्र के सभी रोगो के इलाज  उपलब्ध ।


 REPORT BHANU PRAKASH NEGI,DEHRADUN


गांधी नेत्र चिकित्सालय जिला चिकित्सालय भाग दो में आने वाले मरीजों के लिए खुशखबरी है। अस्पताल के अधीक्षक/सचिव बरिष्ठ नेत्र सर्जन डॉ रमोला ने बताया कि अस्पताल में गर्भवती महिलाओं व बच्चों के लिय उपचार शुरूकर दिये गये है साथ ही फिजिशयन,चर्मरोग,नेत्रो के सभी रोगों के इलाज अस्पताल में सुचारू रूप से किये जा रहे।
डॉ रमोला ने बताया कि महात्मा गांधी नेत्रचिकित्सालय जिला चिकित्सालय भाग दो में एम सीएस बिग शुरू हो गई है। यहां पर अन्तः रोगियों को भर्ती करना शुरू कर दी है। गर्भवती महिलाओं के उपचार के लिए भर्ती शुरू कर दी गई है। चिकित्सकों की 24 धंटे की ड्युटी तय कर दी गई है।धीरे धीरे हर प्रकार की सुविधाओं के लिए व्यवस्थायें की जा रही है। क्योंकि अस्पताल को नये तरीके से शुरू किया जा रहा है इस लिय पुराने अस्पतालों से इसकी तुलना करना सही नही है। कुछ महीनों में इस अस्पताल को पटरी पर ले आयेगें। यहा ंपर बाल रोग विशेषज्ञ के साथ साथ फिजिशियन,स्कीन स्पेस्लिस्ट और नेत्र से सभी रोगों का इलाज सुचारू रूप से किया जा रहा है। भविष्य में हंश फॉउडेसन की ओर से अस्पताल को मिलने जा रहे है। जिससे यहा पर और भी सुविधाये मरीजों के लिए बडायी जायेगी। एम सी एस में लगातार हमारी कोशिस है कि जो सुविधाये एक जिला अस्पताल में दी जाती है वो दी जाय। आने वाले समय में यहां पर नाक,कान,गला व सर्जन की तैनाती भी यहा पर की जायेगी और आकस्मिक सेवाओं को भी मजबूत करना पढेगा। राज्य सरकार का अस्पताल के हर संभव सहयोग जारी है। डॉ रमोला ने बताया कि शुरूवाती दौरा में बजट की कमी या यथा शीध्र आवश्यक सेवाओं के लिए अस्पताल के कर्मचारियों ने धन इक्कठा कर एक कोश का गठन किया है जिससे अस्पताल के आकसमिक कामों में काफी राहत मिल रही है।

वही कोरोनेसन अस्पताल (जिला अस्पताल भाग 1) के मुख्य चिकित्साधिकारी बरिष्ठ सर्जन डॉ एल सी पुनेठा ने डॉ रमोला के द्वारा अस्पताल को स्थापित करने में किये जा रहे अथक प्रयासों की सराहना की है। उन्होनें कहा कि अस्पताल को शुरू करने में सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को करने में निश्चित रूप से समय लगता है। डॉ रमोला दिन रात मेहनत कर अस्पताल में चाक चौबन्द व्यवस्था करने में जुटे है। हमस े जो भी मदद की जरूरत होती है वह हम प्राथमिकता के तौर पर गांधी अस्पताल को मुहया करा रहे है। गांधी नेत्र चिकित्सालय को जनता के लिए समर्पित करने के लिए डीजी हेल्थ,सचिव स्वास्थ्य समेंत सभी जिम्मेदार अधिकारी भरसक प्रयास कर रहे है। जल्द सभी सुविधाओं को उपलब्ध कराकर जन सेवा के जिला अस्पताल भाग दो को सर्मपित किया जायेगा।
गौरतलब है कि कोरोनेसन अस्पताल और गांधी अस्पताल को मिलाकर देहरादून जिला अस्पताल की व्यवस्था की गई है। दून अस्पताल के दून मेडिकल कॉलेज में तब्दील होने से यहां आने वाले मरीजों भारी दिक्कतों को सामना करना पड रहा है। कोरोनेसन अस्पताल में काफी सुविधायें होने से मरीजों को काफी राहत मिली है और गांधी नेत्र चिकित्सालय में धीरे धीरे सुविधाये बढने से मरीजों को काफी राहत मिलने लगी है।