हंस फाउंडेसन के सहयोग से गांधी नेत्र चिकित्सालय में आंखों के इलाज की अत्याधुनिक सुविधा।

कोरोनेसन अस्पताल में जल्द खुलेगा 4 बेडों का आईसीयू


कोरोनेसन अस्पताल में जल्द चार बेडों को आई सी यू खुलेगा जिसके लिए एक करोड़ रूपये की धनराशि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत द्वारा स्वीकृत की गई है।यह जानकारी अस्पताल के सीएमएस डॉ बीसी रमोला ने दी।
गौरतलब है कि आई सीयू न होने की वजह से कोरोनेसन अस्पताल में न्यूरो सर्जरी समेंत कई गंभीर बीमार लोगों का अस्पताल में ऑपरेसन नही किया जा रहा था।जिसके कारण वेसहरा गरीबों को दर दर भटकना पढ रहा था।

अगर आप आंखों के रोगों से परेसान है तो अब आपको दिल्ली व चण्डीगढ शहरों में भटकना नहीं पढेगा। हंस फाउंडेसन की मदद से दो लाख रूपये के अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सालय व विज्ञान केन्द्र में आंखों के रोगों के लिए लगाये गये हैं। जिनमें ओसीटी मशीन से रेटिना व काला मोतिया बिन्दु बीमारी का समय से बहुत पहले ही पता लगाया जा सकेगा,जिससे मरीज को अन्धा होने से बचाया जा सकता है।इसके साथ ही याग लेजर ,आंखों के प्रेसर को मापने वाले उपकरण और अत्याधुनिक सर्जिकल माईक्रोस्कोप  ऑपरेसन थियेटर में लगाये गये है, जिससे हर मरीज के आंख की बीडियों रिर्काडिंग की जाती है। साथ ही बिना चीरा के आंख के मोतिया बिन्दु का ऑपरेसन अस्पताल में हो रहा है।
भानु प्रकाश नेगी,देहरादून।