मौत का कारण बनती देहरादून की डेन्जर सड़कें।

देहरादून के कई इलाकों की सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे हो गए हैं। बरसात से पहले अगर इन सड़कों को ठीक नहीं कराया गया तो समस्या और बढ़ना तय है। पॉश इलाके डालनवाला, राजेंद्र नगर तक में सड़कें टूटी हुई हैं।

वार्ड नंम्बर 53 के पार्षद अनूप नौडियाल का कहना है कि, इनके वार्ड में सड़कों की स्थिति काफी खराब है जिसके लिए पीडूब्लयू से इस बात के प्रति आग्रह किया है.. साथ ही आचार संहिता के कारण भी कई कार्य रूके हुये है..

कहते है नजर हटी दुर्घटना घटी…बात तो सटिक है लेकिन जब सड़के ही खराब बनी हो तो दुर्घटना होना आम है.. देहरादून की सड़के भी कुछ ऐसा ही एहसास कराने लगी है.. हर रास्तो में गढ़े और उन गढ़ो में दुर्घटनायें। यही सिलसिला है देहरादून की सड़को का जहा हर जगह गढ़े ही गढ़े है.. बरसात से पहले अगर इन सड़को को ठीक नही कराया गया तो समस्या और बढ़ना तय हैं… साथ ही दुर्घटनायें की बात कहे तो काफी लेाग परेशान अपने आस—पास की सड़को से परेशान है नेहरू कलोन वार्ड के स्थानीय लोंगो की मानें कई बार पार्षद से इसको लेकर शिकायत तो की लेकिन आज तक ये सड़के ऐसी की ऐसी बनी हुये है।
यही नही अगर इन सड़को हादसे हर साल होते है, हर वर्ष सैकड़ो लोगों की जिंदगी लील रही है.. मौत का आकड़ाउ साल दर साल बढ़ता जा रहा है.. 2017 से 2019 तक के आकड़ो पर गौर करें तो 2279 लोगों की मौत इन तीन सालो मे सड़क हादसे से हुई है..

2017 से 2019 तक के आकड़े..

साल     हादसे     मौत                घायल
2017   1603    942      1631
2018  1468    1047     1571
2019    443     290     365
कुल     3514   2279    3567

वही इस मामले मे मेयर की माने तो बारिश शुरू होने से पहलेे सड़को का काम पूरा हो जायेगा फिलहाल अभी पैच का काम जारी चल रहा है।