गौ गंगा का पवित्र स्थल उत्तराखंड धाम को स्वच्छ व निर्मल रखना हम सभी की जिम्मेदारी-आचार्य आशीष गौड

गौ गंगा का पवित्र स्थल उत्तराखंड धाम को स्वच्छ व निर्मल रखना हम सभी की जिम्मेदारी-आचार्य आशीष गौड

भारत वास्तव में महान देश है जहां पर भगवान ने समय-समय पर अवतार लेकर पापियों का संहार किया है। देव दावन संग्राम के दौरान हुऐ समुद्र मंथन मंे निकले चौदह रत्नों में कामधेनु गौ का भी प्राकाटय हुआ और उत्तराखंड के पावन धाम गौमुख से मां गंगा का प्राकाटय हुआ हमें मां गंगा, गौ माता और गौरी की सेवा अवश्य करनी चाहिए। साथ ही पर्यावरण संरक्षण एवं तथा स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए।समाज में आपसी प्रेम सद्भावना एवं सेवा भाव सभी के प्रति रखना चाहिए।जब जब इस घरा पर धर्म की हानि होती है तब तब भगवान किसी न किसी रूप में अवतरित होकर धर्म की स्थापना करतें हैं। यह प्रवचन देहरादून केदारपूरम शिवनगर दुर्गामंदिर में भागवत कथा के दौरान कथा व्यास आचार्य आशीष गौड दिया।इस दौरन कृष्णजन्म का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया साथ ही मधुर भजनों पर भक्त जमकर थिरके।