उत्तरकाशी के भकड़ा गांव में 14 वर्षीय युवती का दुराचार के बाद निर्मम हत्या.

– फिर हुई देवभूमि शर्मशार,
– धटना के बाद क्षेत्र के लागों में भारी आक्रोश,
– सोशल मीडिया पर दुराचारियों को फांसी की सजा की मांग।

उत्तरकाशी /भकड़ा

उत्तरकाशी जनपद के सुदूरवर्ती गांव भकड़ा में दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है। यहां 14 वर्षीय युवती के साथ चार मजदूरों ने बलात्कार के बाद निर्मम हत्या कर दी। ग्रामीणों के अनुसार घटना को अंजाम देने वाले बिहारी मजदूर दूसरे समुदाय से तालुक रखते है।आरोपियों ने युवती के साथ दुराचार करने के बाद निर्मम हत्या कर दी और शव को गांव के पास पुल में अर्द्वनग्न अवस्था में फेंक दिया।


धटना के बाद क्षेत्र में हंगामा मच गया और पुलिस के आला अधिकारी व आस-पास के ग्रामीणों का ने युवती के शव को पुल में घेर लिया। उत्तरकाशी पुलिस के अनुसार धटना कल रात की है जब चार कथित बिहारी मजदूरों ने बिजली का कनेसन काट कर लडकी उसके घर से अगवाकर ले गये और अपनी हवस का शिकार बनाया और बाद में उसकी निर्मम हत्याकर उसे पास नजदीकी पुल पर फेंक दिया।
पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफतार कर दिया है। घटना के बाद पूरे उत्तराकाशी समेत समूचे उत्तराखंड में लागों में आक्रोश फैल गया है। सोशल मीडिया पर आरोपियों के फांसी की सजा की मांग हो रही है,तो कई बुद्विजीवी उत्तराखंड क्रांति दल को भी कोस रही है, कि उत्तराखंड के संवेदनसील मुद्दों पर यूकेडी क्यों मौन हो जाती है।


उत्तराखंड की शांत वादियां में बलात्कार और हत्या जैसी धिनौनी घटनायें निश्चित तौर पर विचलित करने वाली है।देवभमि के नाम से विश्व विश्वविख्यात उत्तराखंड पर किसी न किसी भेडिये की नजर तो अवश्य है, जो इस तरह के अमानवीय कु कृत्यों को अंजाम दे रहा है। उत्तराखंड का हित चाहने वाले सभी लोगों को एकजुट होकर इन साजिस का फर्दा फास करना होगा। वरना हम सबका का अस्थित्व खतरे में नजर आता है।क्यांकि हम पहाडी बेहतर सुख सुविधाओं की तलास में अपने स्वर्ग जैसे स्थान को छोडकर शहरों के़ एक-एक कमरों के डब्बों में सिमट रहे है और वहां हमारी पैत्रिक स्थानों पर बाहरी दरिन्दों, भेडियों ने अपनी नजर गढायी हुई है। जिससे वह इस तरह की अमानवीय कुकृत्यों तक को अंजाम देने में भी पीछे नही हट रहे है।समय रहते एक जुट एक मुठ होने का अब वक्त आ चुका है।
-भानु प्रकाश नेगी,देहरादून