मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी कोरोना के खिलाफ जंग जीतकर लौटे घर

मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी कोरोना
के खिलाफ जंग जीतकर लौटे घर
 श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के डाॅक्टरों, नर्सिंग स्टाफ व सफाई कर्मियों का विशेष रूप से जताया आभार
 मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व अपनी साथी स्टाफ सदस्यों के प्रति जताई कृतज्ञता
 कहा आत्मविश्वास बनाए रखें, डाॅक्टरों की सलाह का अनुपालन करें, यह लड़ाई जीती जा सकती है


देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के विशेष कार्याधिकारी उर्वा दत्त भट्ट कोरोना के खिलाफ जंग जीतकर घर लौट गए हैं। वह विगत एक महीने से श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें सांस लेने में तकलीफ व बुखार की शिकायत से 9 सितम्बर 2020 को श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया था। भर्ती रहने के दौरान दो बार उनका सैम्पल कोविड-19 परीक्षण के लिए भेजा गया, दोनों बार सैम्पल की जाॅच पाॅजिटिव आई। डाॅक्टरी परामर्श व बेहतर उपचार के चलते वह करोनोना को हराने में कामयाब रहे। 6 अक्टूबर को उनके कोविड-19 सैम्पल की जाॅच रिपोर्ट नेगेटिव आई। इसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डाॅ अनिल कुमार धवन ने उर्वा दत्त भट्ट के स्वस्थ होने पर उन्हें शुभकामनाएं दीं।
श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के कोविड-19 उपचार के नोडल अधिकारी डाॅ जगदीश रावत ने जानकारी दी कि उन्हें सांस लेने में तकलीफ व बुखार की शिकायत के साथ भर्ती किया गया था। वह करीब 27 दिनों तक डाॅक्टरों की निगरानी में रहे। अब उनके स्वास्थ्य में सुधार है व उन्हें छुट्टी दे दी गई है। उर्वा दत्त भट्ट ने कहा कि अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान डाॅक्टरों, नर्सिंग स्टाफ व सफाई कर्मचारियों ने उनकी बेहतर देखभाल की। इसके लिए उन्होनंे अस्प्ताल के डाॅक्टरों, नर्सिंग स्टाफ व अस्पताल प्रबन्धन का आभार जताया।