श्री दरबार साहिब में प्रवेश के लिए कड़ाई से करवाया जा रहा आरटी-पीसीआर गाइडलाइन का अनुपालन

श्री झण्डे जी आरोहण के लिए श्री
दरबार साहिब में विशेष सजावट
 श्री दरबार साहिब में प्रवेश के लिए कड़ाई से करवाया जा रहा आरटी-पीसीआर गाइडलाइन का अनुपालन
 मेला कमेटी सदस्य मुख्य प्रवेश द्वार पर तैनात, आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट देखकर ही दिया जा रहा प्रवेश
 2 अप्रैल 2021 शुक्रवार को होगा एतिहासिक श्री झण्डे जी का आरोहण

देहरादून। दरबार श्री गुरु राम राय जी महाराज परिसर में श्री झण्डा जी आरोहण को लेकर सुन्दरता व भव्यता बढ़ने लगी है। बुधवार को एक ओर गिलाफ सिलने के कार्य में तेज़ी रही। श्री दरबार साहिब परिसर में सजावट व लाइटिंग कार्य को अंतिम रूप दिया गया। वहीं दूसरी ओर श्री झण्डा जी मेला आयोजन समिति के सदस्य श्री झण्डा मेला कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आ रही संगत की आरटी-पीसीआर जाॅच रिपोर्ट का कड़ाई से अनुपालन करवाने के लिए मुस्तैद रहे। बुधवार को भी उन्हीं श्रद्धालुओं को श्री दरबार साहिब परिसर में प्रवेश दिया गया जिनके पास आरटी-पीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट थी। जो श्रद्धालु आरटी-पीसीआर जाॅच करवाकर नहीं आए थे, श्री झण्डा जी मेला आयोजन समिति के सदस्यों ने उन्हें हाथ जोड़कर श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में आरटी-पीसीआर जाॅच के लिए भेज दिया। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की ओर से ऐसी संगतों की निःशुल्क आरटी-पीसीआर जाॅच की गई।
श्री झण्डा जी आरोहण कार्यक्रम के लिए श्री दरबार साहिब की सुन्दरता व भव्यता चरम पर है। संगतों व श्रद्धालुओं के सहयोग से श्री दरबार साहिब के हर हिस्से को प्रकाशवान बनाया गया है।

श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने की विशेष अदरास
दरबार श्री गुरु राम राय जी महाराज के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने बुधवार को श्री गुरु राम राय जी महाराज के श्री चरणों में विशेष अरदास की। उन्होंने कहा कि कोरोना से पूरी दुनिया संघर्ष कर रही है। उन्होंने अरदास की कि जल्द ही हमारा देश कोरोना से मुक्त हो व सभी के जीवन से कोरोना का दुष्प्रभाव शीघ्र समाप्त हो। श्री गुरु महाराज जी की कृपा व आशीर्वाद आप सभी पर बना रहे, उन्होंने ऐसी मंगलकामना की।

श्री दरबार साहिब मेला स्थल पर लगाए थर्मल स्कैनर
श्री दरबार साहिब के के व्यवस्थापक के.सी. जुयाल ने जानकारी दी कि श्री दरबार साहिब में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों की स्कैनिंग के लिए थर्मल स्कैनर लगाए गए हैं। सभी प्रवेशार्थियों को आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने, थर्मल स्कैनिंग व हैंड सेनेटाइजेशन के बाद ही परिसर में प्रवेश दिया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण के प्रति बचाव का संदेश
श्री दरबार साहिब परिसर में कोरोना के बारे में आवश्यक गाइड लाइन को बार बार आॅडियो संदेश से दोहराया जा रहा है। श्रीझण्डा मेला आयोजन समिति की ओर से श्री दरबार साहिब परिसर में जगह फलेक्स लगवाए गए हैं जिनमें कोरोना संक्रमण से बचाव के संदेश लिखे हुए हैं। श्री दरबार साहिब मेला आयोजन समिति की ओर से सेनेटाइजेशन की उचित व्यवस्था की गई है। श्री दरबार साहिब परिसर में टीम सदस्यों ने घूम घूम कर सेनेटाइजेशन का काम किया।

 

श्री दरबार साहिब परिसर में आरटी-पीसीआर की सैंपलिंग
श्री झण्डा जी मेला आयोजन समिति की ओर से श्री दरबार साहिब परिसर में ही बुधवार को आरटीपीसीआर सैंपलिंग की व्यवस्था की गई। श्री दरबार साहिब परिसर में श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के विशेषज्ञों की टीम सैंपल क्लेक्शन के लिए उपलब्ध रही। संगत में शामिल ऐसे श्रद्धालु जो आरटी-पीसीआर रिपोर्ट के साथ नहीं आए थे, श्री दरबार साहिब परिसर में ही उनके सैंपल लिए गए व उन्हें श्री दरबार साहिब परिसर से अलग धर्मशाला में रिपोर्ट के परिणाम आने तक ठहरवा दिया गया।

श्री दरबार साहिब परिसर में मेला अस्पताल शुरू
श्री दरबार साहिब परिसर में श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की टीम ने बुधवार से मेला अस्पताल शुरू कर दिया है। डाॅक्टरों, नर्सिंग स्टाफ, पैरामैडिकल स्टाफ, फार्मासिस्ट की टीम दवाईयों के साथ श्री दरबार साहिब परिसर में उपलब्ध हैं। श्री दरबार साहिब में आए किसी भी व्यक्ति को बुखार, सांस लेने में तकलीफ, आॅखों या नाक से पानी बहने की शिकायत हो तो वे तुरन्त मेला अस्पताल में डाॅक्टर से चिकित्सकीय परामर्श ले सकते हैं। गम्भीर मामलों में श्री दरबार साहिब परिसर से श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के लिए एम्बुलेंस उपलब्ध करवाई गई है।

गिलाफ सिलने का काम तेज़
बुधवार को गिलाफ सिलने का काम तेज़ गति से हुआ। महिलाएं सिलाई मशीन की मदद से गिलाफ तैयार करने के काम में जुटीं रहीं। काबिलेगौर है कि श्री झण्डे जी पर तीन तरह के गिलाफों का आवरण होता है। सबसे भीतर की ओर सादे गिलाफ चढ़ाए जाते हैं इनकी संख्या 41 (इकतालीस) होती है। मध्यभाग में शनील के गिलाफ चढ़ाए जाते हैं इनकी संख्या 21 (इक्कीस) होती है। सबसे बाहर की ओर दर्शनी गिलाफ चढ़ाया जाता है इनकी संख्या 1 (एक) होती है। श्रीझण्डे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाने के लिए 2122 तक के लिए बुकिंग हो चुकी है।

दूधिया रोशनी से नहाया श्री दरबार साहिब
श्री दरबार साहिब प्रबन्धन की ओर से आकर्षक साजो सज्जा का विशेष इंतजाम किया गया है। मेला अधिकारी श्री के सी जुयाल ने जानकारी दी कि पूरे दरबार साहिब परिसर में विशेष साजो सज्जा की गई है। खासतौर पर रात के समय श्री दरबार साहिब की आभा देखते ही बन रही है। चारों ओर से पड़ रही दुधिया रोशनी के बीच श्री दरबार साहिब बेहद मनमोहक व आकर्षक दिखाई दे रहा है।
गुरु भक्ति में रंगी संगत
श्री झण्डे जी आरोहण कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आई संगत गुरु भक्ति में पूरी तरह रम चुकी है। संगतों ने एक से बढ़कर एक श्री गुरु महाराज जी के भजन गाए व गुरु भक्ति की महिमा में डूबे रहे। श्रद्धालुओं ने गुरु महिमा के गुणगान में बढ़चढ़ कर भागीदारी की।
पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने किया दौरा
श्री दरबार साहिब परिसर में सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनज़र बुधवार को जिला प्रशासन व पुलिस अधिकारियों ने परिसर का दौरा किया। एस पी सिटी सरिता डोभाल, शहर कोतवाल एसएस नेगी के अलावा पुलिसकर्मियों व प्रशासनिक टीम ने श्री दरबार साहिब परिसर का मौका मुआयना किया।